काला और हरा चना

Vigna mungo


पानी देना
मध्यम

जुताई
प्रत्यक्ष बीजारोपण

कटाई
80 - 100 दिन

श्रम
मध्यम

सूरज की रोशनी
पूर्ण सूर्य

pH मान
4.5 - 7

तापमान
24°C - 30°C

उर्वरण
मध्यम


काला और हरा चना

परिचय

उड़द, बालों वाली पत्तियों और 4-6 सेंटीमीटर लंबाई के संकीर्ण फलियों वाला एक लंबवत वार्षिक शाक है। तने शाखाओं वाले होते हैं और पौधे झाड़ी जैसे दिखते हैं। यह पौधा एक अच्छी तरह से विकसित मुख्य जड़ पर निर्भर करता है। भारत हर साल करीब 1.5 मिलियन टन उड़द पैदा करता है। अन्य बड़े उत्पादक म्यांमार और थाईलैंड हैं।

सलाहकार

उपयोगी सुझावों को ब्राउज़ करने के लिए अपने विकास चरण का चयन करें!

अपने सीजन की तैयारी

उन किस्मों को चुनें जो पीले चित्तीदार विषाणु के प्रतिरोधी हैं
अपने खेतों में पशु खाद डालना न भूलें

देखभाल

देखभाल

80 से 100 दिनों के बाद परिपक्व फलियां कटाई के लिए तैयार हो जाती हैं। फ़सल के लिए मध्मय पानी की आवश्यकता होती है, 7 से 10 दिनों के सिंचाई अंतराल की सिफ़ारिश दी जाती है। सूखे के संकेतों के लिए खेतों की लगातार निगरानी की जानी चाहिए।

मिट्टी

इसे उगाने के लिए समृद्ध काली कम जैविक पदार्थ युक्त मिट्टी (वर्टिसोल) या दोमट मिट्टी, जिनकी जल-निकासी अच्छी हो, और पीएच स्तर 6-7 हो, अनुकूलतम प्रकार हैं। परंतु, यदि मिट्टी में चूना और जिप्सम शामिल किया जाता है, तो विग्ना मुंगो 4.5 के पीएच तक की अम्लीय मिट्टी को भी झेल सकता है। फ़सल नमकीन और क्षारीय मिट्टी के प्रति संवेदनशील होती है। यह सूखा सहन कर सकती है और अर्ध शुष्क क्षेत्रों में सबसे अच्छी तरह बढ़ती है।

जलवायु

विग्ना मुन्गो एशिया, मेडागास्कर और अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जा सकता है। पौधे प्राथमिक तौर पर निचले इलाकों में फैले हैं, लेकिन समुद्र तल से 1800 मीटर ऊपर तक पाए जा सकते हैं। यह सूखे मौसम के दौरान 25 डिग्री सेल्सियस से 35 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान में सबसे अच्छी तरह बढ़ता है।

संभावित बीमारियां

उस अवधि के दौरान आपकी फसल को खतरा पैदा करने वाली बीमारियों को देखने के लिए किसी एक विकास चरण का चयन करें।

काला और हरा चना

काला और हरा चना

इसके विकास से जुड़ी सभी बाते प्लांटिक्स द्वारा जानें!

अभी डाउनलोड करें

काला और हरा चना

Vigna mungo

काला और हरा चना

प्लांटिक्स एप के साथ स्वस्थ फसलें उगाएं और अधिक उपज प्राप्त करें!

अभी प्लांटिक्स का उपयोग करें!

परिचय

उड़द, बालों वाली पत्तियों और 4-6 सेंटीमीटर लंबाई के संकीर्ण फलियों वाला एक लंबवत वार्षिक शाक है। तने शाखाओं वाले होते हैं और पौधे झाड़ी जैसे दिखते हैं। यह पौधा एक अच्छी तरह से विकसित मुख्य जड़ पर निर्भर करता है। भारत हर साल करीब 1.5 मिलियन टन उड़द पैदा करता है। अन्य बड़े उत्पादक म्यांमार और थाईलैंड हैं।

मुख्य तथ्य

पानी देना
मध्यम

जुताई
प्रत्यक्ष बीजारोपण

कटाई
80 - 100 दिन

श्रम
मध्यम

सूरज की रोशनी
पूर्ण सूर्य

pH मान
4.5 - 7

तापमान
24°C - 30°C

उर्वरण
मध्यम

काला और हरा चना

काला और हरा चना

इसके विकास से जुड़ी सभी बाते प्लांटिक्स द्वारा जानें!

अभी डाउनलोड करें

सलाहकार

उपयोगी सुझावों को ब्राउज़ करने के लिए अपने विकास चरण का चयन करें!

अपने सीजन की तैयारी

उन किस्मों को चुनें जो पीले चित्तीदार विषाणु के प्रतिरोधी हैं
अपने खेतों में पशु खाद डालना न भूलें

देखभाल

देखभाल

80 से 100 दिनों के बाद परिपक्व फलियां कटाई के लिए तैयार हो जाती हैं। फ़सल के लिए मध्मय पानी की आवश्यकता होती है, 7 से 10 दिनों के सिंचाई अंतराल की सिफ़ारिश दी जाती है। सूखे के संकेतों के लिए खेतों की लगातार निगरानी की जानी चाहिए।

मिट्टी

इसे उगाने के लिए समृद्ध काली कम जैविक पदार्थ युक्त मिट्टी (वर्टिसोल) या दोमट मिट्टी, जिनकी जल-निकासी अच्छी हो, और पीएच स्तर 6-7 हो, अनुकूलतम प्रकार हैं। परंतु, यदि मिट्टी में चूना और जिप्सम शामिल किया जाता है, तो विग्ना मुंगो 4.5 के पीएच तक की अम्लीय मिट्टी को भी झेल सकता है। फ़सल नमकीन और क्षारीय मिट्टी के प्रति संवेदनशील होती है। यह सूखा सहन कर सकती है और अर्ध शुष्क क्षेत्रों में सबसे अच्छी तरह बढ़ती है।

जलवायु

विग्ना मुन्गो एशिया, मेडागास्कर और अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जा सकता है। पौधे प्राथमिक तौर पर निचले इलाकों में फैले हैं, लेकिन समुद्र तल से 1800 मीटर ऊपर तक पाए जा सकते हैं। यह सूखे मौसम के दौरान 25 डिग्री सेल्सियस से 35 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान में सबसे अच्छी तरह बढ़ता है।

संभावित बीमारियां

उस अवधि के दौरान आपकी फसल को खतरा पैदा करने वाली बीमारियों को देखने के लिए किसी एक विकास चरण का चयन करें।