टमाटर

Solanum lycopersicum


पानी देना
मध्यम

जुताई
प्रतिरोपित

कटाई
90 - 130 दिन

श्रम
मध्यम

सूरज की रोशनी
पूर्ण सूर्य

pH मान
6 - 7

तापमान
21°C - 27°C

उर्वरण
मध्यम


टमाटर

परिचय

टमाटर नाइटशेड परिवार (सोलानेसी) का एक पौधा है। इसको उगाना काफ़ी आसान है और अनुकूलतम व्यवस्थाएं एक अच्छी फसल का उत्पादन करेंगी। परंतु, टमाटर के पौधे कीट और बीमारियों के प्रति अतिसंवेदनशील होते हैं। अपेक्षाकृत ठंडे क्षेत्रों में, टमाटर केवल वर्ष के गर्म महीनों के दौरान उगाए जा सकते हैं (एक फ़सल), जबकि गर्म क्षेत्रों में उन्हें पूरे साल के दौरान उगाया जा सकता है (दो फ़सल)।

सलाहकार

उपयोगी सुझावों को ब्राउज़ करने के लिए अपने विकास चरण का चयन करें!

अपने सीजन की तैयारी

टमाटर की फसल के लिए संतुलित उर्वरीकरण
खेत तैयार करते समय बुनियादी उर्वरीकरण का प्रयोग करें

देखभाल

देखभाल

विकास और फलने के चरण के दौरान, नियमित और उचित सिंचाई कलियों के शीर्ष की सड़न जैसी दैहिक समस्याओं से बचने में मदद करेगी। विशेष रूप से फलने के दौरान, पौधों को पानी की बड़ी मात्रा में आवश्यकता होती है। परंतु, लंबे समय तक पत्ती को नमी देने से बचें क्योंकि यह कवक विकास में सहायक होता है। रोपण के समय, मिट्टी में पौधों को सहारा देने के लिए खूंटी लगाना, बाद में बढ़ते हुए टमाटर के फल को ज़मीन से दूर रखने में मदद देगा। ग्रीनहाउस में डोरियों या विशेष जाल/पिंजरों का उपयोग करना भी संभव है।

मिट्टी

टमाटर के पौधों की वृद्धि अच्छी तरह से सूखी, दोमट मिट्टी के लिए अनुकूल होती है, जिसमें हल्का अम्लीय पीएच 6 और 6.8 के बीच होता है। जड़ो वाले क्षेत्र को नम रखा जाना चाहिए, लेकिन दलदल नहीं होना चाहिए। टमाटर की जड़ें अनुकूलतम स्थितियों में 3 मीटर गहरी हो सकती हैं, इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि मिट्टी नरम हो और पानी स्वतंत्र रूप से जा सके। जड़ो के पास की कठोर उभरी मिट्टी और भारी मिट्टी, जड़ वाले क्षेत्र में वृद्धि को सीमित कर सकती है और अस्वस्थ पौधों का कारण बन सकती है जो विकास को रोकती है और पैदावार को कम करती है।

जलवायु

टमाटर एक गर्म मौसम की फ़सल है जो स्व-परागित होती है। टमाटर तुषार-संवेदनशील पौधे होते हैं जो गर्म मौसम में बढ़ते हैं, और इसलिए अंतिम वसंत का तुषार गुज़र जाने के बाद लगाया जाना चाहिए। 3½ महीने से कम अवधि के तुषार वाले क्षेत्रों में, टमाटर से लाभ होने की संभावना नहीं होती है। सूर्य का पूरी तरह से संपर्क महत्वपूर्ण है और पौधों को कम से कम 6 घंटे सूरज की रोशनी मिलनी चाहिए। अंकुरण के लिए अनुकूलतम तापमान 21 और 27 डिग्री सेल्सियस के बीच है। 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे और 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर तापमान के कारण बहुत ख़राब अंकुरण होता है। हालांकि उन्हें इस समय के बाद किसी भी समय लगाया जा सकता है, टमाटर सबसे अच्छे तब उगते हैं जब दिन का तापमान 16 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहता है और रात का तापमान 12 डिग्री सेल्सियस से नीचे नहीं गिरता है। इन आवश्यकताओं को पूरा न करने वाले क्षेत्रों में ग्रीनहाउस वायु-संचालन/ताप व्यवस्था का उपयोग किया जा सकता है।

संभावित बीमारियां

उस अवधि के दौरान आपकी फसल को खतरा पैदा करने वाली बीमारियों को देखने के लिए किसी एक विकास चरण का चयन करें।

टमाटर

टमाटर

इसके विकास से जुड़ी सभी बाते प्लांटिक्स द्वारा जानें!

अभी डाउनलोड करें

टमाटर

Solanum lycopersicum

टमाटर

प्लांटिक्स एप के साथ स्वस्थ फसलें उगाएं और अधिक उपज प्राप्त करें!

अभी प्लांटिक्स का उपयोग करें!

परिचय

टमाटर नाइटशेड परिवार (सोलानेसी) का एक पौधा है। इसको उगाना काफ़ी आसान है और अनुकूलतम व्यवस्थाएं एक अच्छी फसल का उत्पादन करेंगी। परंतु, टमाटर के पौधे कीट और बीमारियों के प्रति अतिसंवेदनशील होते हैं। अपेक्षाकृत ठंडे क्षेत्रों में, टमाटर केवल वर्ष के गर्म महीनों के दौरान उगाए जा सकते हैं (एक फ़सल), जबकि गर्म क्षेत्रों में उन्हें पूरे साल के दौरान उगाया जा सकता है (दो फ़सल)।

मुख्य तथ्य

पानी देना
मध्यम

जुताई
प्रतिरोपित

कटाई
90 - 130 दिन

श्रम
मध्यम

सूरज की रोशनी
पूर्ण सूर्य

pH मान
6 - 7

तापमान
21°C - 27°C

उर्वरण
मध्यम

टमाटर

टमाटर

इसके विकास से जुड़ी सभी बाते प्लांटिक्स द्वारा जानें!

अभी डाउनलोड करें

सलाहकार

उपयोगी सुझावों को ब्राउज़ करने के लिए अपने विकास चरण का चयन करें!

अपने सीजन की तैयारी

टमाटर की फसल के लिए संतुलित उर्वरीकरण
खेत तैयार करते समय बुनियादी उर्वरीकरण का प्रयोग करें

देखभाल

देखभाल

विकास और फलने के चरण के दौरान, नियमित और उचित सिंचाई कलियों के शीर्ष की सड़न जैसी दैहिक समस्याओं से बचने में मदद करेगी। विशेष रूप से फलने के दौरान, पौधों को पानी की बड़ी मात्रा में आवश्यकता होती है। परंतु, लंबे समय तक पत्ती को नमी देने से बचें क्योंकि यह कवक विकास में सहायक होता है। रोपण के समय, मिट्टी में पौधों को सहारा देने के लिए खूंटी लगाना, बाद में बढ़ते हुए टमाटर के फल को ज़मीन से दूर रखने में मदद देगा। ग्रीनहाउस में डोरियों या विशेष जाल/पिंजरों का उपयोग करना भी संभव है।

मिट्टी

टमाटर के पौधों की वृद्धि अच्छी तरह से सूखी, दोमट मिट्टी के लिए अनुकूल होती है, जिसमें हल्का अम्लीय पीएच 6 और 6.8 के बीच होता है। जड़ो वाले क्षेत्र को नम रखा जाना चाहिए, लेकिन दलदल नहीं होना चाहिए। टमाटर की जड़ें अनुकूलतम स्थितियों में 3 मीटर गहरी हो सकती हैं, इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि मिट्टी नरम हो और पानी स्वतंत्र रूप से जा सके। जड़ो के पास की कठोर उभरी मिट्टी और भारी मिट्टी, जड़ वाले क्षेत्र में वृद्धि को सीमित कर सकती है और अस्वस्थ पौधों का कारण बन सकती है जो विकास को रोकती है और पैदावार को कम करती है।

जलवायु

टमाटर एक गर्म मौसम की फ़सल है जो स्व-परागित होती है। टमाटर तुषार-संवेदनशील पौधे होते हैं जो गर्म मौसम में बढ़ते हैं, और इसलिए अंतिम वसंत का तुषार गुज़र जाने के बाद लगाया जाना चाहिए। 3½ महीने से कम अवधि के तुषार वाले क्षेत्रों में, टमाटर से लाभ होने की संभावना नहीं होती है। सूर्य का पूरी तरह से संपर्क महत्वपूर्ण है और पौधों को कम से कम 6 घंटे सूरज की रोशनी मिलनी चाहिए। अंकुरण के लिए अनुकूलतम तापमान 21 और 27 डिग्री सेल्सियस के बीच है। 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे और 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर तापमान के कारण बहुत ख़राब अंकुरण होता है। हालांकि उन्हें इस समय के बाद किसी भी समय लगाया जा सकता है, टमाटर सबसे अच्छे तब उगते हैं जब दिन का तापमान 16 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहता है और रात का तापमान 12 डिग्री सेल्सियस से नीचे नहीं गिरता है। इन आवश्यकताओं को पूरा न करने वाले क्षेत्रों में ग्रीनहाउस वायु-संचालन/ताप व्यवस्था का उपयोग किया जा सकता है।

संभावित बीमारियां

उस अवधि के दौरान आपकी फसल को खतरा पैदा करने वाली बीमारियों को देखने के लिए किसी एक विकास चरण का चयन करें।