- अन्य

अन्य अन्य

फलों की सड़न पैदा करने वाला रोग (फ्रूट रॉट)

फफूंद

Monilinia fructigena


संक्षेप में

  • कलियाँ मुरझाकर लटक जाती हैं और भूरी हो जाती हैं, लकड़ी के ऊतकों में सड़न वाले हिस्से पैदा हो जाते हैं.
  • फलों पर पीले-भूरे रंग जैसे गोल धब्बे हो जाते हैं.
  • कलियों, टहनियों, और फलों पर राख जैसे काले-भूरे बीजाणुओं/जीवाणुओं का गुच्छा बन जाता है.
  • वृक्षों के फल कुम्हला व सूख (मम्मी जैसे) जाते हैं।.
 - अन्य

अन्य अन्य

लक्षण

वृक्ष की प्रजाति के आधार पर लक्षण भिन्न होते हैं, लेकिन उनको अक्सर कलियों के कुम्हलाने, टहनियों के नासूर, और फलों में भूरे रंग की सड़न (ब्राउन रोट) में विभाजित किया जाता है। संक्रमित कलियाँ लटक जाती है, भूरी हो जाती हैं, और अक्सर टहनी से चिपटी रहती हैं। लकड़ीदार ऊतकों पर गले-सड़े हिस्से पैदा हो जाते हैं। नम या आर्द्र स्थितियों के अंतर्गत, राख के समान काले-भूरे रंग के बीजाणुओं के गुच्छे रोगयुक्त कलियों या टहनियों की सतह पर विकसित हो जाते हैं। सड़े हुए स्थानों से अक्सर एक गोंददार पदार्थ रिसता है, जिसके कारण झुलस चुके फूल टहनियों से जुड़े रहते हैं। पकने के अंतिम चरणों, अक्सर फल एकत्रित करने से 2 से 3 सप्ताह पूर्व, के दौरान फल ब्राउन रोट रोग के प्रति अतिसंवेदनशील हो जाते हैं। आरंभ में, त्वचा पर पीले-भूरे गोल धब्बे दिखाई देते हैं। नमी की स्थितियों में, राख के समान काले-भूरे रंग के बीजाणुओं के बड़े गुच्छे पैदा हो जाते हैं। जो रोगयुक्त फल भूमि पर नही गिरते हैं वे सूख जाते हैं तथा वे सूखकर ‘‘मम्मी‘‘ की तरह बन जाते हैं जो शाखा से चिपके रहते हैं।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

ये लक्षण मोनिलिनिया फ्रक्टिजेना फफूंद के कारण उत्पन्न होते हैं, जो गर्म, नमीदार मौसम में पनपता है। कुछ मामलों में, अन्य फफूंद भी कारण हो सकते हैं। सभी मामलों में, वे सूखे फलों या नई टहनियों में जाड़े का समय बिताते हैं। आरंभिक संक्रमण अक्सर फूलों के परागकोशों या पुष्प-योनि (पिस्टिल) पर उतरने वाले बीजाणुओं के ज़रिये होता है। उसके बाद फफूंद कलियों के आंतरिक ऊतकों (फ्लोरल ट्यूब, अण्डाशय और डंठल) में प्रवेश कर जाता है और उस टहनी तक पहुंच जाता है जिससे फूल जुड़ा हुआ है। धीरे-धीरे, फूल कुम्हलाने लगते हैं एवं टहनियां सड़ने लगती हैं। फफूंद के बीजाणु जबतक अतिरिक्त संक्रमण हेतु दूसरे वृक्ष की शाखा तक यात्रा नही कर सकते हैं तबतक वे सूखे फल पर निवास करते हैं। संक्रमित फल, और विशेष रूप से सूखे हुए फल, संक्रमण के सबसे प्रचुर स्रोत होते हैं।

जैविक नियंत्रण

बर्फ़िले पानी में नहलाकर ताज़ा-ताज़ा तोड़े गए फलों एवं सब्ज़ियों से गर्मी निकालने वाली फलों की सुरक्षा करने वाली विधि, हायड्रो-कूलिंग, भंड़ारण या परिवहन के दौरान फफूंद को उत्पन्न होने से रोक सकती है। बेसिलस सब्टिलिस पर आधारित जैव-फफूंदनाशक मोनिलिनिया फ्रक्टिजेना के प्रतिरोधियों के रूप में कार्य करते हैं।

रासायनिक नियंत्रण

अगर उपलब्ध हो, तो हमेशा जैविक उपचारों के साथ निवारक उपायों के संयुक्त दृष्टिकोण पर विचार करें। समय पर एवं बार-बार डायकार्बोक्सिमाइड, बेन्ज़िमिडाज़ोल, ट्रायफ़ोरिन, क्लोरोथेलोनिल, मायक्लोबुटेनिल, फ़ेन्बुकोनाज़ोल, प्रोपिकोनाज़ोल, फ़ेन्हेक्सामिड और एनिलिनोपायरिमिडाइन पर आधारित फफूंदनाशी का प्रयोग करना इस रोग का उपचार करने के लिए प्रभावी हो सकता है। नए कवकनाशी जैसे पायराक्लोस्ट्रोबिन और बोस्केलिड भी प्रभावी हैं। सही छिड़काव एक ही समय पर पपड़ी, पाउडरी मिल्डूय, ज़ंग, गेरूए रंग की पपड़ी, या स्लेटी फफूंद की उपस्थिति पर निर्भर करता है। फलों को क्षति से बचाने के लिए कीटों का नियंत्रण करना भी आवश्यक है।

निवारक उपाय

  • अगर उस क्षेत्र में उपलब्ध हों, तो विविध प्रतिरोधी प्रजातियों का चयन करें.
  • खेत में काम करने के दौरान या कीटों के द्वारा फलों को किसी प्रकार की क्षति से बचाएं.
  • छतरी को सूखा रखने के उपाय करें, उदाहरण के लिए उचित छंटाई द्वारा.
  • फलों के बगीचे में जंगली वैकल्पिक धारक पौधों को हटाएं.
  • संक्रमण का प्रथम संकेत मिलने पर स्वस्थ लकड़ी के भीतर मर रही सभी नई टहनियों को 20 से 30 से.मी. तक काट दें.
  • संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सभी संक्रमित फलों या शाखाओं को हटा दें और नष्ट कर दें (जला दें या गाड़ दें).
  • उच्च स्वच्छता मानक को बनाए रखना सुनिश्चित करें.
  • नाइट्रोजन युक्त उर्वरकों के अत्यधिक उपयोग से बचें.
  • रोग के लक्षणों पर नज़र रखने के लिए भंडारित फलों की निगरानी करें, क्योंकि यह रोग के फैलने का एक महत्वपूर्ण कारण होता है.
  • फफूंद के बढ़ने को धीमा करने के लिए भंडारण या परिवहन के दौरान फलों को करीब 5° सें. के कम तापमान पर ठंडा रखें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!