- बाजरा

बाजरा बाजरा

मोटी बाजरा अर्गट

फफूंद

Claviceps fusiformis


संक्षेप में

  • बाली के शीर्ष पर मलाईदार गुलाबी से लाल रंग का तरल पदार्थ, जिसे हनीड्यू कहा जाता है, दिखाई देता है.
  • ब्लैक स्क्लेरोशिया या अर्गट अनाज के दानों की जगह ले लेते हैं।.
 - बाजरा

बाजरा बाजरा

लक्षण

बाली के सिरे में, गुलाबी से लाल रंग का तरल पदार्थ संक्रमित फूलों से स्रावित होता है। यह पत्तियों पर और ज़मीन पर गिर सकता है। इस तरल में कॉनिडिया की एक बड़ी मात्रा होती है। संक्रमित फूल अनाज का उत्पादन नहीं करते। काला फफूंद बीज की जगह ले लेता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

सापेक्ष आर्द्र जलवायु और 20 से 39 डिग्री सेल्सियस के बीच का तापमान अनुकूल स्थितियां होती हैं। संक्रमण के 5 से 7 दिनों के बाद, शहद की बूंद जैसा पदार्थ (हनीड्यू) स्रावित होता है। हनीड्यू फूलों में द्वितीयक संक्रमण को बढ़ावा देती है। खपत के मामले में अर्गट मनुष्य और जानवरों के लिए गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकता है। पौधे के अवशेषों में फफूंद पूरे वर्ष जीवित रहता है।

जैविक नियंत्रण

कच्चे नीम उत्पादों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

रासायनिक नियंत्रण

अर्गट को नियंत्रित करने और उसे रोकने के लिए ज़िराम युक्त कवकनाशक का उपयोग किया जा सकता है।

निवारक उपाय

  • प्रतिरोधक किस्में लगाएं.
  • कीटाणुरहित बीज का उपयोग करें.
  • संतुलित पोषण (कम नाइट्रोजन और उच्च फ़ॉस्फ़ॉरस) सुनिश्चित करें.
  • बारिश से पोषित परिस्थितियों में जल्दी रोपाई करें.
  • गहरी जुताई करें और पौधों के अवशेणों को दफ़ना दें.
  • सॉर्घम के साथा मूंग दाल को छितरा दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!