- काबुली चना

काबुली चना काबुली चना

काबुली चने का ज़ंग

फफूंद

Uromyces ciceris-arietini


संक्षेप में

  • कत्थई, गोल तथा पाउडर जैसे दाने.
  • दाने पत्तियों के दोनों ओर पाए जा सकते हैं।.
 - काबुली चना

काबुली चना काबुली चना

लक्षण

आरम्भ में, पत्तियों के दोनों ओर कत्थई, गोल तथा पाउडर जैसे दाने पाए जाते हैं। जैसे-जैसे रोग बढ़ता है, इन धब्बों को तनों और फलियों पर भी देखा जा सकता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

काबुली चने के ज़ंग के लिए ठंडी तथा नम मौसम की परिस्थितियाँ सहायक होती हैं। ज़ंग के विकास के लिए वर्षा आवश्यक नहीं है। यह रोग प्रायः विकास के मौसम के बाद के चरण में होता है।

जैविक नियंत्रण

माफ़ कीजियेगा, हमें यूरोमाइसेस सिकेरिस-एरिटिनी के विरुद्ध कोई वैकल्पिक उपचार ज्ञात नहीं है। यदि आप इस रोग का सामना करने के विषय में कुछ जानते हैं, तो कृपया हमसे संपर्क करें। हमें आपके सुझावों की प्रतीक्षा रहेगी।

रासायनिक नियंत्रण

कवकरोधकों से नियंत्रण में सफलता कम मिली है। काबुली चने का ज़ंग एक मामूली रोग है तथा अधिकांश मामलों में सघन नियंत्रक उपायों की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

निवारक उपाय

  • बुआई जल्द करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!