- सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

साइट्रस के फोड़े

बैक्टीरिया

Xanthomonas axonopodis pv. citri


संक्षेप में

  • पत्तियों पर पीले आभामंडल से घिरे हुए ज़ंग जैसे भूरे रंग के मस्सों-जैसे गड्ढे दिखाई देते हैं.
  • ये बाद में हल्के भूरे या स्लेटी रंग के केंद्र और तेलीय, पानी से लथपथ भूरे किनारों के साथ एक विशिष्ट घाव बनाते हैं.
  • इसी तरह के लक्षण फलों और टहनियों पर दिखाई दे सकते हैं।.
 - सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

लक्षण

पेड़ उनके विकास के सभी चरणों में प्रभावित हो सकते हैं और लक्षण पत्तियों, फलों या टहनियों पर दिखाई दे सकते हैं। पहले छोटे, हल्के-से उठे हुए और दलदले घाव नई संक्रमित पत्तियों की दोनों सतहों पर विकसित होते हैं। जब वे परिपक्व होते हैं, तो ये धब्बे ज़ंग-भूरे रंग के मस्से-जैसे गड्ढों में विकसित होते हैं जो विशिष्ट चमकदार पीले रंग के परिवेश से घिरे हुए होते हैं। वे अंततः, फटकर अपनी सामग्री को स्रावित करते हैं, और हल्के भूरे या स्लेटी रंग के केंद्र और तेलीय, पानी से लथपथ भूरे रंग के किनारों के साथ एक विशिष्ट घाव का निर्माण करते हैं। कभी-कभी, पुराने नासूरों का केंद्र गिर जाता है, और एक शॉट-होल (गोली के आकार का) प्रभाव पीछे छोड़ जाता है। इसी तरह के लक्षण फलों और टहनियों पर दिखाई दे सकते हैं, जहां नासूर बड़े आकार के हो सकते हैं। घावों के केंद्र विशेष रूप से उठे हुए, पपड़ीदार या कॉर्क जैसे होते हैं। पत्तियाँ झड़ने लगती हैं, समय से पहले फल गिर जाते हैं, और संवहनी ऊतकों का खाई जैसा बनने के कारण टहनियां मर सकती हैं। परिपक्व होने वाले फल बिक्री योग्य नहीं होते हैं।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

साइट्रस कैंकर साइट्रस और इससे संबंधित पौधों की वाणिज्यिक किस्मों का एक गंभीर और अत्यधिक संक्रामक रोग है। यह ज़ेन्थोमोनस सिट्री जीवाणु के कारण होता है, जो फल, पत्तियों और तने के पुराने घावों में 10 से अधिक महीनों की अवधि के लिए जीवित रह सकता है। यह पौधों के ऊतकों में घाव या प्राकृतिक छिद्रों से पत्ती की सतह में प्रवेश करता है और वहाँ धीरे-धीरे पनपता है। पत्तियों और अन्य ऊतकों पर जो गड्ढे बनते हैं उनमें जीवाणु होते हैं, जो गीले होने पर छोड़े जाते हैं, और कम दूरी पर बारिश के छींटों या ऊपरी सिंचाई प्रणालियों के द्वारा फैलते हैं। रोग के लिए अनुकूलित स्थितियों में शामिल हैं, उच्च आर्द्रता, गर्म (20 से 30 डिग्री सेल्सियस) और बारिश की स्थितियाँ, विशेषकर तेज़ हवाओं के साथ। साइट्रस साइलिड्स, लीफ़माइनर, पक्षी, साथ ही संक्रमित औज़ार और उपकरण भी पेड़ों या पेड़ों के झुंड के बीच जीवाणु को प्रसारित कर सकते हैं। अंत में, संक्रमित पौधों या पौधों के हिस्सों का परिवहन, जैसे नर्सरी पेड़ या फैलाव सामग्री, भी एक समस्या है।

जैविक नियंत्रण

ज़ेन्थोमोनस एक्सोनोपोडिस पीवी सिट्री के खिलाफ़ कोई भी वैकल्पिक उपचार ज्ञात नहीं है।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हो, तो जैविक उपचार के साथ निवारक उपायों के एकीकृत दृष्टिकोण पर विचार करें। दुर्भाग्यवश, यह पता चला है कि साइट्रस कैंकर का कोई प्रभावी नियंत्रण नहीं है। बीमारी के प्रभाव को कम करने के लिए रोकथाम उपाय, जैसे पेड़ों की गिरी हुई सामग्री को हटाना और विनाश करना, आवश्यक हैं। साइट्रस साइलिड्स का नियंत्रण भी नुकसान को सीमित करने का एक तरीका हो सकता है। कॉपर-आधारित कवक या जीवाणुनाशक संक्रमण के खिलाफ़ एक बाधा प्रदान कर सकते हैं, लेकिन वे एक मौजूदा संक्रमण का इलाज नहीं करेंगे।

निवारक उपाय

  • क्षेत्र में संगरोध नियमों के बारे में जानें.
  • रोग के लक्षणों के लिए पेड़ों की जाँच करें.
  • सूखे मौसम के दौरान संक्रमित पेड़ों के हिस्से छाँट दें.
  • रोग के प्रसार को रोकने के लिए उपकरण और औज़ारों के उपयोगों के बीच उन्हें जीवाणुरहित करें.
  • जब पत्तियाँ गीली हों, तो खेत में काम न करें.
  • आसपास के स्वस्थ पेड़ों को संक्रमण से बचाने के लिए गंभीर रूप से संक्रमित पेड़ों को नष्ट करें.
  • गिरी हुई पत्तियों, फलों और शाखाओं को ज़मीन से हटाएं और उन्हें नष्ट कर दें.
  • फैलने से रोकने के लिए खेतों के बीच वायुरोधक का उपयोग करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!