- सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

नींबू वंश की कलियों का घुन (सिट्रस बड माइट)

घुन

Aceria sheldoni


संक्षेप में

  • टहनियों और पुष्पक्रम पर वृद्धि के बिंदुओं को क्षति पत्तियों, कलियों और युवा पौधों में विकृति का कारण बनती है.
  • गुलाब के आकार की तरह पत्तियाँ शाखाओं पर दिखाई देती हैं.
  • वृक्ष का विकास कम होता है और फलों के गुच्छे छोटे रह जाते हैं.
  • संक्रमित फल गंभीर रूप से विकृत होते हैं और हल्के पीले से लेकर चांदी के रंग का बदरंगपन दर्शाते हैं.
  • सिट्रस की सभी प्रजातियां प्रभावित होती हैं, लेकिन आमतौर पर सबसे अधिक नुकसान नींबू में होता है।.
 - सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

लक्षण

जैसा कि इसका नाम इंगित करता है, ये घुन अधिमानतः पत्तियों और कलियों पर हमला करते हैं। टहनियों और पुष्पक्रम पर बढ़त के बिंदुओं की मृत्यु पत्तियों, कलियों और नई टहनियों के विरूपण का कारण बनती है। गुलाब की तरह पत्तियाँ शाखाओं पर दिखाई देती हैं। वृक्षों का विकास कम हो जाता है, जिसके कारण फलों के गुच्छे छोटा रह जाने के साथ अन्य नुकसान भी दिखाई देने लगते हैं। प्रभावित फल गंभीर रूप से विकृत हो जाते हैं और हल्के पीले रंग से लेकर चांदी के रंग का बदरंगपन और घाव के धब्बे दिखते हैं, जो कवक संक्रमण के लिए प्रवेश प्रदान कर सकते हैं। वे विकास के प्रारंभिक दौर में गिर सकते हैं। परिपक्व होने वाले फलों का बाज़ार मूल्य कम हो सकता है, क्योंकि उनमें रस की कमी होती है और उनकी गुणवत्ता ख़राब होती है। ये कीड़े सभी सिट्रस प्रजातियों पर हमला करते हैं, लेकिन आमतौर पर नींबू में सबसे ख़राब नुकसान होता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

लक्षण सिट्रस की कलियों के घुन, एसेरिया शेल्डोनी, के कारण होते हैं। वे नग्न आंखों को दिखाई नहीं देते, लेकिन वे नींबू वंश के वृक्षों के बाग़ीचों को भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं और उनकी उपज कम कर सकते हैं। एक आवर्धक कांच के माध्यम से छोटे, कृमि के आकार वाले, आमतौर पर मलाई जैसे सफ़ेद या पारदर्शी घुन कलियों पर देखे जा सकते हैं। सर्दियों के महीनों के दौरान, वे कलियों के हरित दलों (ब्रेक्ट) के नीचे स्वंय को सुरक्षित रखते हैं। वसंत में, जब परिस्थितियां अनुकूल होती हैं, तो मादाएं निकलकर नए विकास की कलियों पर अंडे देती हैं। कीटडिंभ टहनियों और पुष्पक्रम के बढ़ते बिंदुओं पर हमला करते हैं, जिससे नई पत्तियों, कलियों और नई टहनियों में विकृति पैदा होती है। परिणामस्वरूप, पेड़ों की वृद्धि धीमी हो जाती है। फलों के गुच्छे भी छोटे रह जाते हैं और फल गंभीर रूप से विकृत हो सकते हैं। गर्म, शुष्क मौसम में इनका आबादी तेज़ी से बढ़ सकती है और इन परिस्थितियों में हल्के संक्रमण भी गंभीर क्षति का कारण बन सकते हैं।

जैविक नियंत्रण

कलियों के घुन आम तौर पर प्राकृतिक शत्रुओं द्वारा नियंत्रित नहीं किए जा सकते हैं। कलियों के इन घुनों पर नियंत्रण रखने के लिए शिकारी घुनों का इस्तेमाल किया जा सकता है। संक्रमण का प्रबंधन करने का सबसे अच्छा तरीका जैविक कीटनाशक हो सकते हैं। यदि कलियों के घुनों की आबादी कम हो, तो उसे नियंत्रित करने में 2% सांद्रता वाले सल्फ़र युक्त घोल मदद कर सकते हैं। इस उपचार को 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर के तापमान पर उपयोग नहीं किया जाना चाहिए और दो उपचारों के बीच 4 सप्ताह का अंतराल रखा जाना चाहिए।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हों, तो जैविक उपचार के साथ निवारक उपायों के एकीकृत दृष्टिकोण पर हमेशा विचार करें। कलियों पर घुन के नुकसान को पत्तियों पर पौधों के लिए ज़हरीले संकीर्ण प्रभाव वाले तेलों के छिड़काव से कम किया जा सकता है। एब्मैक्टिन, फ़ेनब्युटेटिन ऑक्साइड, क्लोरपायरिफ़ॉस, स्पिरोटट्रामैट, फ़ेनपायरोक्सिमेट या इनके संयोजनों पर आधारित उत्पादों को बेहतर प्रभाव के लिए तेलों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है।

निवारक उपाय

  • नियमित रूप से शाखाओं और नए विकास को विरूपताओं की उपस्थिति के लिए जाँचें.
  • लाभदायक कीड़ों को नुकसान न पहुँचे, इसके लिए कीटनाशक का नियंत्रित उपयोग करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!