- शिमला मिर्च एवं मिर्च

शिमला मिर्च एवं मिर्च शिमला मिर्च एवं मिर्च

पिस्सू भृंग (फ़्ली बीटल)

कीट

Chrysomelidae


संक्षेप में

  • पत्तियों पर खाये जाने से होने वाली क्षति.
  • छोटे गोली की तरह छेद.
  • खाये जाने वाले स्थान के आसपास हल्का पीलापन।.
 - शिमला मिर्च एवं मिर्च

शिमला मिर्च एवं मिर्च शिमला मिर्च एवं मिर्च

लक्षण

वयस्क पत्तियों को खाते हैं। क्षति छोटे गोली की तरह छेद (1-2 मिमी) के रूप मे होती है और छोटे चबाने वाले छिद्रों के रूप में प्रकट होती है, जो पत्ती की पूरी सतह पर नहीं फैलती (पिटिंग)। क्षतिग्रस्त ऊतकों के आसपास एक मामूली पीलापन हो सकता है। कंद मे संकीर्ण, अलग-अलग गहराई के सीधे सुरंग हो जाते हैं, और प्रजाति पर निर्भर करता है। क्षति कंद की सतह पर छोटे उथले छालों के रूप में भी दिखाई दे सकती है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

विभिन्न प्रकार के पौधों को प्रभावित करने वाले पिस्सू भृंग की कई प्रजातियां होती हैं। ज़्यादातर वयस्क छोटे (लगभग 4 मिमी), काले रंग के होते हैं, कभी-कभी एक चमकदार या धातु के रंग का पहलू लिए हुए। उनका शरीर अंडाकार होता है और बड़े पिछले पैर कूदने के लिए बने होते हैं। लार्वा मिट्टी में रहते हैं और जड़ों या कंदों को खाते हैं, जबकि वयस्क युवा पौधे का भोजन करते हैं। ज़्यादातर पिस्सू भृंग पौधों के अवशेषों के नीचे, मिट्टी में या खेतों के आसपास के जंगलों में निष्क्रिय रहते हैं। वे वसंत के दौरान फिर से सक्रिय हो जाते हैं। प्रजाति और जलवायु के आधार पर, 1 से 4 पीढ़ी प्रति वर्ष पैदा होती है।

जैविक नियंत्रण

लेस विंग के लार्वा (क्राइसोपा एसपीपी.), वयस्क डेम्सल कीड़े (नेबिस एसपीपी.) और कुछ परजीवी ततैये वयस्क पिस्सू भृंग को खाते हैं या मारते हैं। कुछ गोल कृमि भी मिट्टी में रहने वाले लार्वा को मारते हैं। कवक रोगजनकों, कीटनाशक साबुनों या जीवाणु कीटनाशक, स्पिनोसेड, का उपयोग आबादी को कम करने के लिए किया जा सकता है।

रासायनिक नियंत्रण

जब भी संभव हो, निवारक उपाय और जैविक उपचार के साथ एक एकीकृत उपागम का प्रयोग करें। भृंग की अतिसंवेदनशील अवधि के दौरान, यानी जब वे पत्तियों पर दिखाई देते हैं, कीटनाशकों का प्रयोग किया जाना चाहिए। क्लोरपायरिफ़ोस और मैलेथियोन पर आधारित उत्पाद जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए अच्छी तरह से काम करते हैं।

निवारक उपाय

  • वयस्क की तेज़ गतिविधि की अवधि से बचने के लिए रोपण के समय (पहले या बाद वाले) को समायोजित करें.
  • भृंग को आकर्षित करने के लिए ट्रैप फ़सलों की रोपाई करें.
  • कीटों को पीछे हटाने या अवरुद्ध करने वाले गैर-मेज़बान पौधों की रोपाई करें.
  • पलवार अंडा-देने और लार्वा चरण में हस्तक्षेप करते हैं.
  • अपने पौधों की निगरानी करें, विशेष रूप से वसंत में। आवश्यक पोषक तत्वों और पानी के साथ पौधों की आपूर्ति करें। खर-पतवार या अन्य मेज़बान पौधों से खेत को मुक्त करें.
  • जुताई करके या फ़सल के अवशेषों को दबाकर या नष्ट करके आश्रय स्थलों को हटा दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!