- टमाटर

टमाटर टमाटर

उज्ज्वल रेखा भूरा नेत्र (ब्राइट लाइन ब्राउन आई)

कीट

Lacanobia oleracea


संक्षेप में

  • पत्तियों, तनों और फलों का भोजन करने से पौधों को नुकसान (छेद, गड्ढे, त्वचा पर खरोंचें).
  • क्षतिग्रस्त ऊतक और कीटमल पर अवसरवादी रोगजनक बस जाते हैं, जिसकी वजह से सड़न पैदा होने लगती है।.
 - टमाटर

टमाटर टमाटर

लक्षण

चबाने के कारण नुकसान युवा पत्तियों, तनों, फूलों और फलों पर दिखाई देता है। युवा लार्वा पत्तियों की निचली सतह पर भोजन करते हैं, जिसके कारण छोटे छेद दिखाई देते हैं। जैसे-जैसे लार्वा बड़े होते हैं, पूरी पत्तियां, डंठलें और फूल और फल भी गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त होते हैं। फलों की सतह पर छेदों और ऊपरी खरोंचें और सुरंग दिखाई देते हैं। क्षतिग्रस्त ऊतक और कीटमल पर अवसरवादी रोगजनक बस जाते हैं, जिसकी वजह से सड़न पैदा होने लगती है। इसलिए, बड़े लार्वा की हल्की-सी भी उपस्थिति फ़सल को नुकसानदेह हो सकती है। इनके कई धारक पौधे होते हैं, जैसे टमाटर, मिर्च, आलू, लेट्यूस (सलाद पत्ता), खीरा, प्याज़, पत्तागोभी और फूल गोभी।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

नुकसान का कारण ब्राइट लाइन ब्राउन आई पतंगे, लेकानोबिया ओलेरेशिया, की इल्लियों की वजह से होता है। इसे नम और पोषण-युक्त मिट्टी पसंद है और इसे कई निवास स्थानों पर पाया जा सकता है, जैसे ग्रीनहाउस, खेत, नदियों के किनारे या जंगल के पास। वयस्क पतंगों के पंख 35-40 मिमी तक फैल सकते हैं, और उनका शरीर हल्का भूरा होता है, हालांकि कुछ गहरे रंग के जीव भी दिखाई दे सकते हैं। आगे के पंख गहरे लाल-भूरे होते हैं, जिन पर एक स्पष्ट हल्का नारंगी, गुर्दे के आकार का धब्बा होता है। किनारे पर ‘W’ के आकार में एक सफ़ेद, चमकीली रेखा एक और विशेषता है। मादाएं 150 के गुच्छों में अंडे देती हैं और उन्हें धारक पौधों की पत्तियों की निचली सतह पर रख देती हैं। इल्लियां 5 सेमी तक लंबी हो सकती हैं। इनका रंग हरे से लेकर गहरा भूरा हो सकता है, और दोनों तरफ़ सफ़ेद और काले धब्बे और पीले रंग की पट्टी होती है।

जैविक नियंत्रण

कुछ मामलों में, ट्रायकोग्रामा परजीवी ततैया (टी. इवानेसेंस) या शिकारी कीट, पोडिसस मेकुलिवेंट्रिस, इल्लियों की आबादी कम करते हैं। स्पिनोसैड या बैसिलस थुरिंजियेंसिस (बीटी) युक्त ऐसे कीटनाशकों का प्रयोग करें जो पर्यावरण में हमेशा के लिए व्याप्त नहीं रहते हैं। जैसे ही लार्वा देखा जाता है, 0.1% की सांद्रता में दो बार छिड़काव लार्वा के रासायनिक नियंत्रण के लिए अच्छा विकल्प है।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हो, तो जैविक उपचारों के साथ रोकथाम उपायों के एक एकीकृत दृष्टिकोण पर हमेशा विचार करें। पतंगे के मामले में, स्पिनोसैड और बीटी जैसे वैकल्पिक उत्पादों की प्रभावशीलता रासायनिक उपचार के उपयोग का औचित्य नहीं साबित करती है। फिर भी, अल्फ़ा-साइपरमेथ्रिन, बीटा-सायफ़्लुथ्रिन, बाईफ़ेंथ्रिन, साइपरमेथ्रिन, डेल्टामेथ्रिन, डाईफ़्लुबेंज़ुरोन, फ़ेन्प्रोपेथ्रिन, लाम्ब्डा-सायहेलोथ्रिन, टेफ़्लुबेंज़ुरोन पर आधारित उत्पादों का उपयोग किया जा सकता है। यह आवश्यक है कि लाभकारी कीटों को नुकसान से बचाने के लिए कीटनाशकों का उपयोग सुनियोजित एकीकृत प्रबंधन रणनीतियों के हिस्से के रूप में किया जाए।

निवारक उपाय

  • अपने खेत की निगरानी करें और अंडे, संक्रमित पौधों तथा इल्लियों को हटा दें.
  • पतंगों को अपने ग्रीनहाउस में पहुंचने से रोकने के लिए जाली का उपयोग करें.
  • पत्तियों की निचली सतह पर अंडों के गुच्छों को खुरचकर निकाल दें और इल्लियों को हटा दें.
  • संक्रमित पौधों को हटाकर नष्ट कर दें.
  • फसल की कटाई के बाद मिट्टी पर निगरानी रखें और शेष प्यूपा को हटा दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!