- टमाटर

टमाटर टमाटर

ट्युटा एब्सोल्युटा

कीट

Tuta Absoluta


संक्षेप में

  • लार्वा पत्तियों को अनियमित ढंग से स्लेटी से सफ़ेद रंग का कर देता है, जो बाद में रंगहीन हो सकती हैं.
  • फलों में बड़े रास्ते तथा बिल बन जाते हैं.
  • बाद में इन बिलों का द्वितीयक रोगजनकों द्वारा उपयोग किया जाता है, जिससे फल में सड़ांध हो जाती है।.
 - टमाटर

टमाटर टमाटर

लक्षण

संक्रमण फसल चक्र के दौरान होता है और किसी भी फसल के हिस्से को प्रभावित कर सकता है। लार्वा ऊपरी कलियों, ताज़ा नरम पत्तों और फूलों को पहले प्रभावित करते हैं। लार्वा पत्तियों को अनियमित ढंग से स्लेटी से सफ़ेद रंग का कर देता है, जो बाद में रंगहीन हो सकती हैं। लार्वा तनों में बिल खोद देता है, जिससे पौधों का विकास प्रभावित होता है। फलों पर, लार्वा के प्रवेश या निकास बिंदुओं पर काले निशान पाए जा सकते हैं। ये खुला मार्ग द्वितीयक रोगजनकों के लिए प्रवेश बिंदु के रूप में काम करता है, जिससे फल में सड़ांध पैदा हो जाती है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

ट्युटा एब्सोल्युटा अपनी उच्च प्रजनन क्षमता की वजह से टमाटर की फ़सल को तबाह कर सकता है, और प्रतिवर्ष 12 पीढ़ियां पैदा कर सकता है। मादाएँ पत्तियों की निचली सतह पर 300 सफ़ेद रंग के अंडे दे सकती हैं। अंडो से बाहर निकलने के लिए 26-30ºसे. और 60-75% आर.एच. सही होता है। लार्वा हल्के हरे रंग के होते हैं, तथा इनके सिर के पीछे एक काली पट्टी होती है। अनुकूल परिस्थितियों (तापमान, आर्द्रता) में, उनका विकास लगभग 20 दिनों में पूरा हो जाता है। वयस्क चांदी के समान भूरे रंग के होते हैं, 5 - 7 मिमी लंबे होते हैं, और दिन के दौरान पत्तियों के बीच छिपे होते हैं। ट्युटा एब्सोल्युटा अंडों, लार्वा तथा वयस्क रूप में पत्तियों या मिट्टी में छिपे रह सकते हैं।

जैविक नियंत्रण

टी. एब्स्यूलूटा को खाते हुए कई शिकारियों को पाया गया है। इन प्रजातियों में शामिल हैं परजीवी ततैया ट्राइकोग्रामा प्रेटीयोसम, और नेसिडियोकोरिस टेनियस और मेक्रोलोफ़स पिग्मस कीड़े। मेटारिज़ियम अनिसोप्ले और ब्युवेरिया बेसियाना सहित कई कवक प्रजातियाँ कीटनाशकों के अंडों, लार्वा और वयस्कों पर हमला करती हैं। नीम के बीज का अर्क या बैसिलस थुरिंजिनेंसिस या स्पिनोसेड युक्त कीटनाशक भी यही काम करते हैं।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हो, तो जैविक उपचार के साथ बचाव के उपाय भी साथ में करें। लार्वा की गुप्त प्रकृति, कीट की उच्च प्रजनन क्षमता और प्रतिरोधकता के विकास के कारण ट्युटा एब्सोल्युटा के लिए सुझावित कीटनाशक व्यवहार्य नहीं हो सकते हैं। इससे बचने के लिए, कई प्रकार के कीटनाशकों जैसे कि इंडोक्साकार्ब, अबेमेक्टिन, अज़ाडिरेक्टिन, फ़ेनोक्सिकार्ब-लुफ़ेनुरोन को इस्तेमाल करें।

निवारक उपाय

  • कीट-मुक्त युवा पौधों का रोपण करें.
  • अपने खेत की निगरानी करें और बड़े पैमाने पर वयस्कों को पकड़ने के लिए चिपचिपा जाल या फ़ेरोमोन जाल का प्रयोग करें.
  • क्षतिग्रस्त पौधों और पौधे के हिस्सों को हाथ से तोड़कर नष्ट करें.
  • खेत में और आसपास वैकल्पिक परपोषी पौधों को नियंत्रित करें.
  • रोग को अगली फ़सल तक पहुंचने से रोकने के लिए, अगली फसल लगाने से पहले कम से कम 6 सप्ताह प्रतीक्षा करें.
  • व्यापक फसल चक्रीकरण लागू करें.
  • मिट्टी को जोतें और इसे प्लास्टिक पलवार के साथ ढांक दें या सौरीकरण करें.
  • फसल के बाद पौधों को निकालें और नष्ट करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!