- धान

धान धान

एशियाई चावल पर फोड़े बनाने वाला छोटा कीट (गॉल मिज)

कीट

Orseolia oryzae


संक्षेप में

  • पौधे की जड़ के आधार पर ट्यूब के आकार की संरचनाएं.
  • चांदी रंग की पत्ती जैसे खोल.
  • कलियों का उत्पादन करने में विफल.
  • विकृत, ढीले और घुमावदार पत्ते.
  • अवरुद्ध विकास।.
 - धान

धान धान

लक्षण

चावल पर फोड़े पैदा करने वाला छोटा कीट (गॉल मिज) नई शाखाओं के आधार पर नली के आकार के फोड़ों की संरचना करते हैं, जिनसे लम्बाई के आकार में चांदी जैसे रंग की पत्तियों के खोल (करीब 1 सेंटीमीटर चौड़े तथा 10 से 30 सेंटीमीटर लम्बे) निकलते हैं जिन्हें प्याज़ की पत्तियां या सिल्वर शूट कहते हैं। प्रभावित नई शाखाएं पत्तियों की बढ़त को रोकती हैं और उनमें पुष्पगुच्छ नहीं निकलते । सूखा, पोटैशियम की न्यूनता, लवणता तथा चावल के तैला के कारण भी पौधे का छोटा रह जाना तथा पत्तियों में विकृति का आना, मुरझाना और मुड़ना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। समस्या के कारण का पता करने के लिए, कीटों की उपस्थिति के लिए जांच करें, विशेषकर लंबे नली के आकार के अंडे और विकसित हो रही कलियों के भीतर भोजन कर रहे कृमि जैसे लार्वा के लिए।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

एशियाई चावल का गॉल मिज चावल की फसल में नई शाखाएं निकलने चरण के दौरान सिंचित या वर्षा पोषित गीली भूमि में पाए जाते हैं। ये ऊंचाई पर स्थित तथा गहरे पानी वाले चावल में भी आम हैं। प्यूपा के चरण में कीट सुप्तावस्था में रहता है, लेकिन वर्षा के बाद कलियों के खिलने के समय सक्रिय हो जाता है। बादलों से ढके या वर्षा के मौसम, अधिक शाखाओं वाली प्रजातियों की खेती, प्रबंधन की सघन प्रक्रिया घनी जनसंख्या का कारण होते हैं।

जैविक नियंत्रण

प्लैटिगेस्टेरिड, युपेल्मिड तथा टेरोमेलिड ततैये (लार्वा पर परजीवी), फ़ाइटोसीड घुन (अण्डों पर परजीवी), मकड़ियां (वयस्कों को खाती हैं) के साथ परजीवीकरण का सफलतापूर्वक प्रयोग किया गया है। चावल के खेतों के चारों ओर कीटों को आकर्षित करने वाले फूलों के पौधों को लगाना भी सहायक सिद्ध हुआ है।

रासायनिक नियंत्रण

हमेशा समवेत उपायों का प्रयोग करना चाहिए, जिसमें रोकथाम के उपायों के साथ जैविक उपचार, यदि उपलब्ध हो, का उपयोग किया जाए। चावल में फोड़े पैदान करने वाले इस छोटे कीट के अण्डों के पनपने को नियंत्रित करने के लिए उन पर सही समय पर सही मात्रा में कीटनाशकों का छिड़काव करें। एशियाई चावल के गॉल मिज के विरुद्ध क्लोरोपायरिफ़ोस पर आधारित उत्पादों का प्रयोग किया जा सकता है।

निवारक उपाय

  • स्थानीय रूप से उपलब्ध प्रतिरोधक प्रजातियों का उपयोग करें.
  • वर्षा ऋतु के आरम्भ में जल्द रोपाई करें.
  • पौधों के मध्य चौड़ा स्थान छोड़ें या बुवाई का दर कम रखें.
  • ऐसी जाल फ़सलों का रोपण करें जो चावल के खेत के आसपास लाभकारी कीटों को आकर्षित करता हो.
  • चावल के खेत के आसपास सभी बेमौसम धारक पौधों को हटा दें.
  • नाइट्रोजन तथा पोटाश की अनुकूल मात्रा के लिए दी गई सलाह के बारे में पता करें.
  • पतंगों को पकड़ने के लिए, तेल के चिपचिपे बोर्ड के साथ प्रकाश जाल लगाएं.
  • फसल कटने के तुरंत बाद फ़सल के अवशषों की जुताई करें.
  • मौसम के समाप्त होने पर भूमि को जुताई करके छोड़ दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!