- बैंगन

बैंगन बैंगन

बैंगन का फीते जैसे कीड़ा (लेस बग)

कीट

Gargaphia solani


संक्षेप में

  • नवजात, पत्तों के नीचे की सतह पर समूह में भोजन करते हैं, और उन्हें कीटमल के भूरे धब्बों से ढक देते हैं.
  • पत्तियाँ मुड़ी हुई और हल्के रंग की हो जातीं हैं.
  • भक्षण के कारण हरितहीन क्षेत्र हो जाते हैं, जिसके परिणामस्वरूप पत्तियों का मुरझाना और हानि।.
 - बैंगन

बैंगन बैंगन

लक्षण

वयस्क और नवजात दोनों बैंगन की पत्तियों पर भोजन करते हैं। महत्वपूर्ण अवधि प्रारंभिक वसंत है, जब बैंगन अंकुरण चरण में ही होते हैं। सुप्तावस्था में वयस्क पौधों को प्रभावित करना शुरू करते हैं और पत्तियों की निचली सतह पर हरे रंग के अंडे देकर नवजात कीड़ों की बस्तियाँ स्थापित करते हैं। नवजात अंडों से निकलकर समूहों में पत्तियों के निचले हिस्से में भोजन करना शुरू करते हैं और उस हिस्से को भूरे उत्सर्जन से ढाक देते हैं। पत्तियों को चबाने से पत्तियों की ऊपरी सतह पर फीके रंग के गोल, धब्बे नज़र आने लगते हैं। जैसे-जैसे वे आगे बढ़ते हैं और बाहर की तरफ़ पत्तियों को चबाना शुरू करते हैं, बढ़ती हुई क्षति पत्तियों को पीला कर देती है और वे अंत में सूखकर मुड़ जाती हैं। गंभीर संक्रमण पूरे पौधे को मार सकता है या उन्हें कमज़ोर कर सकता है, जिसके कारण फल विकसित नहीं हो पाते हैं।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

बैंगन के फीते जैसे कीड़े के वयस्क हल्के भूरे और सफ़ेद होते हैं, और उनके पंखों में पारदर्शी हरे, फीते जैसी शिराएं नज़र आती हैं। वे करीब 4 मिमी लंबे होते हैं और पौधों के मलबे में जीवित रहते हैं, और अंडे देने के लिए अनुकूल मौसम का इंतज़ार करते हैं। अंडे हरे रंग के होते हैं और समूहों में पत्तियों की निचली सतह से चिपके रहते हैं। नवजात पंखहीन और पीले होते हैं, और उनके पेट की नोक पर एक गाढ़े रंग का धब्बा होता है। नवजात और वयस्क दोनों ही पत्तियों को नुकसान पहुँचाते हैं, लेकिन नवजात उस पौधे पर भोजन प्राप्त करते हैं जिस पर वे पैदा हुए होते हैं, जबकि वयस्क अन्य पौधों पर उड़कर जा सकते हैं और इस तरह खेत में नुकसान को फैला सकते हैं। इस कीट को अभी तक आम तौर पर बैंगन के विशेष कीड़े के रूप में नहीं पहचाना जाता है। उपज को नुकसान आमतौर पर कम होता है, लेकिन कुछ विशिष्ट मामलों में, वे इसके परिणामस्वरूप हो सकते हैं। बैंगन के अलावा, अन्य धारक पौधों में टमाटर, आलू, सूरजमुखी, नागदौना, कपास, नाइटशेड और वीडी हॉर्सनेटल शामिल हैं।

जैविक नियंत्रण

बैंगन के फीते जैसे कीड़े के प्राकृतिक शत्रुओं, जिसमें लेडीबग, मकड़ी, और पाइरेट कीड़े शामिल हैं, को बचाकर रखना चाहिए। कीटनाशक साबुनों, पाइरेथ्रिन और नीम के तेल का पत्तियों के निचले हिस्से पर छिड़काव किया जा सकता है।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हों, तो जैविक उपचार के साथ निवारक उपायों के एकीकृत दृष्टिकोण पर हमेशा विचार करें। मैलेथियोन या पायरेथ्रोइड पर आधारित व्यापक प्रभाव वाले कीटनाशकों को पत्तियों पर छिड़काव के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है किंतु इनका प्रयोग सावधानीपूर्वक किया जाना चाहिए क्योंकि इससे लाभप्रद कीटों को नुकसान पहुंच सकता है।

निवारक उपाय

  • इस कीट के लक्षणों के लिए बारीकी से पौधों पर निगरानी करें.
  • ऐसी पत्तियों को निकालकर फेंक दें जिन पर कीड़े या बस्तियों नज़र आती हों या कीड़ों को हाथों से उठाकर नष्ट कर दें.
  • स्वतः उगने वाले पौधों या अन्य खर-पतवार पौधों को निकालें (उदाहरण के लिए, वीडी हॉर्सनेटल और नाइटशेड्स).
  • लाभप्रद कीटों की जनसंख्या प्रभावित न होने देने के लिए कीटनाशकों का प्रयोग नियंत्रित करें.
  • वयस्क सर्दियों में जीवित न रह पाएं, यह सुनिश्चित करने के लिए खेत में से मलबा और खर-पतवार सामग्री निकालें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!