- सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

साइट्रस के पत्तों का कीट (साइट्रस लीफ़ माइनर)

कीट

Phyllocnistis citrella


संक्षेप में

  • पत्तियों में विकृति - दिखने में घुमावदार या मुड़ी हुई.
  • पत्तियों की सतह पर सफेद या भूरी सुरंगें.
  • अवरुद्ध विकास.
  • फलों का घटता आकार।.
 - सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

लक्षण

विकास के किसी भी चरण में संक्रमण हो सकता है और यह मुख्य रूप से युवा पत्तियों पर दिखाई देता है। शुरुआती लक्षण विकृत, मुड़ी या घुमावदार पत्तियों का दिखाई देना हो सकता है, जो इसके बावजूद हरी रहती हैं। करीब से देखने पर पत्तियों की दोनों अधिचर्म (एपिडर्मिस) के बीच लंबी और घुमावदार सफ़ेद या स्लेटी रंग की सुरंगें दिखाई देती हैं। इन सुरंगों के भीतर लार्वा के मल से मेल खाती हुई एक पतली, गाढ़े रंग की धारी या बिंदीदार रेखा दिखाई देती है, जो पत्तियों के नीचे की ओर अधिक स्पष्ट होती है। लार्वा अक्सर इन सुरंगों के अंत में पाए जाते हैं और एक पत्ति पर कई लार्वा उपस्थित हो सकते हैं। पत्तियों को नुकसान अवसरवादी कवकों या जीवाणुओं द्वारा संक्रमण का एक स्रोत हो सकता है। अत्यधिक संक्रमण प्रकाश संश्लेषक दर को कम कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप अवरुद्ध वृद्धि, और फल के आकार और गुणवत्ता में कमी आ सकती है। गंभीर मामलों में, साइट्रस लीफ़माइनर संक्रमण के कारण पेड़ की सारी पत्तियाँ झड़ सकती हैं और इससे युवा पेड़ों की अंत में मृत्यु हो सकती है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

लक्षण साइट्रस लीफ़माइनर, फ़ाइलोस्निस्टिस सिट्रेला, के लार्वा के भोजन की गतिविधि के कारण होते हैं। वयस्क अत्यधिक झालरदार पंखों और आगे के पंख के शीर्ष पर एक गाढ़े रंग के धब्बे के साथ आकार में छोटे, भूरे या स्लेटी रंग के पतंगे होते हैं। वे भोर और सांझ के समय, यानी सुबह-सवेरे और रात के ठंडे तापमान में मुख्य रूप से सक्रिय रहते हैं। वसंत में, मादाएं अपने अंडे पत्तियों के निचले हिस्से में देती हैं। अंडों में से निलकने वाले लार्वा पारदर्शी हरे या पीले होते हैं और मुख्य रूप से पत्तियों से अपना भोजन प्राप्त करते हैं, हालांकि ये फलों पर भी आक्रमण कर सकते हैं। वे पत्तियों की दोनों अधिचर्म के बीच सुरंगें खोद देते हैं, जिसके परिणामस्वरूप विशिष्ट चांदी जैसी लंबी और घुमावदार सुरंगें नज़र आती हैं। लार्वा अवस्था के अंत में, लीफ़माइनर सुरंग में से निकलते हैं और पत्ती को अपने चारों ओर लपेट कर कोषस्थ चरण में प्रवेश करते हैं। यह साइट्रस का एक प्रमुख कीट है, जो लगभग सभी प्रमुख साइट्रस उत्पादक क्षेत्रों में पाया जाता है। इसके अलावा, यह बैक्टीरियल कैंकर जैसे अन्य रोगों के प्रति संवेदनशीलता को भी बढ़ा देता है।

जैविक नियंत्रण

शिकारियों में न्यूरोप्टोरा वंश के हरे लेसविंग शामिल हैं। ऐसे कई परजीवी हड्डे भी हैं जो साइट्रस लीफ़माइनर के लार्वा पर आक्रमण करते हैं और उन्हें खाते हैं, जैसे टेट्रास्टिकस की प्रजातियाँ। साइट्रस लीफ़माइनर की उपस्थिति को नियंत्रित करने के लिए स्पिनोसाड, मछली के तेल और राल का साबुन और करंज तेल युक्त जैविक कीटनाशकों को साइट्रस लीफ़माइनर द्वारा प्रभावित पत्तियों पर स्प्रे के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। नीम का तेल लगाने से इस पतंगे को पत्तियों पर अपने अंडे देने से रोका जा सकता है।

रासायनिक नियंत्रण

हमेशा जैविक उपचार के साथ निवारक उपायों के एकीकृत दृष्टिकोण पर विचार करें। कीटनाशक साइट्रस लीफ़माइनर के संक्रमण के विरुद्ध पूरी तरह से प्रभावी नहीं हैं, क्योंकि लार्वा पत्ती की बाहरी परत द्वारा संरक्षित रहता है। यदि कीटनाशकों की ज़रूरत हो, तो दैहिक और संपर्क उत्पादों को तब लगाना चाहिए जब वयस्क सक्रिय हों। स्प्रे के रूप में कई उत्पाद उपलब्ध हैं, जिनके मिश्रणों में अबेमेक्टिन, टेबुफ़ेनोज़ाइड, एसिटामिप्रिड, डिफ़्लुबनेज़ुरोन या स्पिनेटोरम शामिल हैं। इस कीट के विरुद्ध सिंथेटिक पाइरेथ्रोयड परिवार के कीटनाशक का भी उपयोग किया जा चुका है।

निवारक उपाय

  • ऐसी किस्मों का चयन करें जो आंशिक रूप से साइट्रस लीफ़माइनर के प्रतिरोधी हों.
  • बीली गोट वीड (एगरेटम कोनिज़ोयॉइड) को पेड़ों के बीच की ज़मीन को ढाकने के लिए उपयोग करें.
  • रोग के लक्षणों के लिए नियमित रूप से बगीचे की निगरानी करें, मुख्य रूप से पत्तियों की निचली सतह.
  • कीटों के छुपने के स्थान कम करने के लिए सर्दियों में गिरी हुई पत्तियों को इकट्ठा करके नष्ट करें.
  • कीटों को आकर्षित करने और उनकी आबादी की निगरानी करने के लिए फ़ेरोमोन जालों का उपयोग करें.
  • संक्रमण की अत्यंतता के दौरान, नए विकास को रोकने के लिए पेड़ों की छंटाई करें.
  • पौधों की महीन जड़ों की छंटाई करें.
  • लाभकारी कीड़े को नुकसान पहुंचा सकने वाले कीटनाशकों के अत्यधिक उपयोग से बचें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!