- पपीता

पपीता पपीता

पपीते फल की मक्खी

कीट

Toxotrypana curvicauda


संक्षेप में

  • फल के कटे हुए छिलके से लेटेक्स की बूँदो का रिसाव होता है जो उसके गहरे हरे रंग के विपरीत साफ़ दिखता है | लार्वा गूदे में से सुरंग बनाते हुए बीजों की गुहा तक जा पहुँचता है और विकसित होते बीजों पर पलता है | इस वृहद् नुकसान के कारण फलों के गूदे में सड़न तथा उसके कारण क्षति होती है | फल की सतह पीले रंग से बदरंग हो जाती है और खुरची हुई या छिद्रदार दिखती है |.
 - पपीता

पपीता पपीता

लक्षण

मादाएं बहुत छोटे या छोटे फलों पर अनेक अंडे देती हैं | फल के कटे हुए छिलके से लेटेक्स की बूँदो का रिसाव होता है जो फल के गहरे हरे रंग के खोल में साफ़ दिखता है | लार्वा गूदे में से सुरंग बनाते हुए बीजों की गुहा तक जा पहुँचता है और विकसित होते बीजों पर पलता है | बाहर निकलने वाले छिद्र फल की सतह पर स्पष्ट दिखाई देते हैं | बड़े पैमाने पर सुरंग बनाये जाने के कारण गूदे में सड़न पैदा होती है जो इसके लगातार होते क्षरण के कारण कत्थई तथा कभी-कभी काले घाव के रूप में दिखती है | फल से दुर्गन्ध निकलती है तथा इससे रस जैसा पदार्थ निकलता है | इसकी सतह पीले रंग से बदरंग हो जाती है और खुरची हुई या छिद्रदार दिखती है | फल पाक कर असमय गिर जाता है |

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

लक्ष्ण मक्खी टोक्सोट्राईपाना सर्विकुडा के कारण होते हैं जो पपीते के छोटे फलों में अपने अंडे देते हैं | वयस्कों को प्रायः गलती से उनके आकार, रंग और व्यवहार से कीट समझ लिया जाता है | उनके पीले से शरीर में थोरेक्स पर व्यवस्थित रूप से बने हुए काले चिन्ह होते हैं | मादाओं में एक लंबा, संक्रा उदार होता है जिसके साथ एक बढ़ा हुआ मुड़ा अंडे देने का अंग लगा होता है जो शरीर की लम्बाई तक फैला होता है | लार्वा सफ़ेद, पतला और लम्बाई में 13-15 मिमी होता है | फलों में से प्रत्येक में कई लार्वा मौजूद हो सकते हैं और इनमे लक्ष्ण फसल काटने के बाद लक्षित हो सकते हैं | अमेरिकी महाद्वीप के ऊष्ण कटिबंधीय तथा उप-ऊष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों में पपीते के फल की मक्खी एक प्रमुख कीट है |

जैविक नियंत्रण

परजीवी कीट डोरिक्टोब्रेकोन टोक्सोट्राईपेन में नियंत्रण की संभावना है |

रासायनिक नियंत्रण

हमेशा समवेत उपायों का प्रयोग करना चाहिए, जिसमें रोकथाम के उपायों के साथ जैविक उपचार, यदि उपलब्ध हो, का उपयोग किया जाए | इस मक्खी के विरुद्ध कोई भी कीटनाशक प्रभावी नहीं दिखता | किसी विशेष प्रलोभन वाले (नर या मादाओं के लिए) कीटनाशक (उदाहरण के लिए, मेलाथियोन या डेल्टामेथ्रिन) वाले ट्रैप पर शोध किया जा रहा है | फलों का पपीते के फल की मक्खी के लिए कीटनाशकों की गर्म भाप से भी उपचार किया जा सकता है |

निवारक उपाय

  • क्षति का जायज़ा लें या मक्खियों की जनसंख्या को पकड़ने के लिए फेरोमोन ट्रैप को लगायें | फलों को ढकने तथा अण्डों को दिए जाने से रोकने के लिए कागज़ के थैले लगायें | खेतों से गिरे हुए तथा असमय पके हुए फलों को हटा दें | संक्रमित छोटे फलों को चुन लें तथा नष्ट कर दें | खेतों के चारों ओर ट्रैप फसलों का प्रयोग मक्खियों को आकर्षित करने के लिए करें | सबसे अधिक नुकसान से बचने के लिए जल्दी कटाई करें | 13 से 16 डिग्री से. के मध्य फलों का भंडारण करें | वृक्षों के आस-पास जुताई से भूमि में बढ़ने वाले वयस्कों को निकलने से पूर्व मारा जा सकता है |.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!