- अनार

अनार अनार

अनार का तना बेधक

कीट

Coelosterna spinator


संक्षेप में

  • कीड़े मुख्य तने की छाल पर छेद करते हैं और लकड़ी के रस पर पलते हैं.
  • वयस्क भौरें नई शाखाओं की हरी छाल चबाते हैं.
  • पौधे के आधार के पास सूखे पाउडर के रूप में कीट मल दिखता है।.
 - अनार

अनार अनार

लक्षण

कीड़े मुख्य तने की छाल पर छेद करके अंदर का रस पीते हैं। वयस्क भौंरे दिन में सक्रिय रहते हैं और नई शाखाओं की हरी छाल चबाते हैं। मुख्य तने की छाल पर छेद, मल उत्सर्जन और सूखा पाउडर जैसा पदार्थ आम तौर पर पौधों के आधार के पास दिखता है। कोलेस्टर्ना स्पिनेटर अनार के पेड़ों का ही कीट नहीं है। असलियत में यह एक सर्वाहारी कीट है जो कम क्षति पहुंचाता है। यह मृत लकड़ी में प्रजनन पसंद करता है लेकिन जीवित शाखाओं पर भी हमला करता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

उपरोक्त लक्षण कोलेस्टर्ना स्पिनेटर और वंश ज़्युज़ेरा की विभिन्न प्रजातियों के लार्वा के कारण होते हैं। प्यूपा में से वयस्क भौंरे छाल में एक गोलाकार छेद बनाते हुए निकलते हैं। वे हलका पीलापन लिए हुए कत्थई रंग के और लंबाई में करीब 30 से 35 मिमी. होते हैं। उनके पंख के खोल हलके भूरे रंग के होते हैं जिन पर विभिन्न आकार के काले धब्बे होते हैं और उनकी लंबी नीली सी टांगें होती हैं। मादाएं छोटे तनों की छाल के नीचे एक अंडे देने वाली गुहा में 20 से 40 अंडे देती हैं। करीब दो सप्ताह बाद अंडे फूटने पर कीड़े अपने आसपास के कोमल ऊतकों को खाना शुरू कर देते हैं और फिर तनों और जड़ों में छेद बनाते हैं। लार्वा अवधि नौ से दस महीने तक की होती है।

जैविक नियंत्रण

डेम्सेल कीड़े, एल्म लीफ भौंरे, कुछ मकड़ियाँ, बिग आई कीट (जिओकोरिस प्रजाति), कीट-परजीवी टैकोनिड मक्खियां या ब्रेकोनिड ततैया तना बेधकों की प्राकृतिक शत्रु हैं।

रासायनिक नियंत्रण

हमेशा एक समेकित दृष्टिकोण से रोकथाम उपायों के साथ-साथ उपलब्ध जैविक उपचारों को अपनाएं। छेदों का उपचार उचित कीटनाशक के इंजेक्शन से करें और छेदों को सूखी चिकनी मिटटी से बंद कर दें। फोलिअर स्प्रे के साथ क्लोरपायरीफ़ॉस (0.05%) का पत्तियों पर छिड़काव भी तना बेधकों की आबादी कम करने में सहायक है।

निवारक उपाय

  • समय पर रोपण से तना बेधकों की चरम आबादी से बचा जा सकता है.
  • पेड़ों के बीच उचित दूरी रखें या हल्की से ज्यादा छंटाई करें.
  • समय-समय पर सूख रही शाखों पर नज़र रखते हुए प्रकोप के शुरुआती संकेतों का पता लगाएं.
  • प्रकोप वाली शाखाओं को एकत्र कर नष्ट कर दें.
  • गर्मी में गहरी जुताई निष्क्रिय कीटों को शिकारियों और धूप के संपर्क में लाती है.
  • प्लास्टिक की पलवार का इस्तेमाल कीटों और खर-पतवार को कम करता है.
  • संक्रमित पौधों को जड़ से उखाड़ें और जला दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!