- मूंगफली

मूंगफली मूंगफली

मूँगफली का छिद्रक

कीट

Caryedon serratus


संक्षेप में

  • लार्वा बीज को खाना शुरू कर देते हैं और दानों में छोटे छेद बन जाते हैं.
  • बड़े घुन फलियों में बड़े छिद्र बना देते हैं.
  • कीट फलियों पर खेतों तथा भंडार दोनों जगहों पर आक्रमण करते हैं।.
 - मूंगफली

मूंगफली मूंगफली

लक्षण

संक्रमण का प्राथमिक साक्ष्य है छिद्रों में से लार्वा का निकलना तथा फलियों के बाहर कोकून की उपस्थिति। जब संक्रमित फलियों को दबा कर खोला जाता है, तो आमतौर पर बीजों पर कोई क्षति नज़र नहीं आती है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

क्षति का कारण भूरे वयस्क घुन (सी. सैराटस) का लार्वा होता है। परिपक्व वयस्क घुन के द्वारा फलियों के बाहर (छोटे और पारदर्शी)अंडे दिए जाते हैं। अंडे फूटने पर, छोटे लार्वा अंडे से निकल कर सीधे फलियों की दीवारों में छेद कर देते हैं। परिपक्व होने तक ये बालियों के बीजपत्रों को खाते हैं। उसके बाद वयस्क घुन फली में बड़ा सा छिद्र कर देता है। वयस्क घुन आकार में अंडाकार, भूरे रंग का और लंबाई में लगभग 7 मिमी. तक का होता है। आदर्श परिस्थितियों में, इसे अपना जीवन चक्र पूरा करने में लगभग 40-42 दिन का समय लगता है। घुन का विकास 30-33 डिग्री से. पर तेज़ी से होता है।

जैविक नियंत्रण

मूंगफली की फलियों को नीम के बीज के चूर्ण या काली मिर्च के चूर्ण से उपचारित करें। आप फलियों का उपचार नीम तेल, करंज तेल या नीलगिरी के तेल से भी कर सकते हैं। फलियों को वायुरोधी पॉलीथीन के थैलों या कलई किए हुए धातु/पीवीसी के बीज बक्सों में भंडारित करें।

रासायनिक नियंत्रण

हमेशा निरोधात्मक उपायों के साथ जैविक उपचार, यदि उपलब्ध हों, के समन्वित प्रयोग पर विचार करें। मिथाइल ब्रोमाइड 32 ग्रा/घन मीटर के हिसाब से 4 घंटों तक धुआं दें। इसके बाद 3 ग्रा/किग्रा की दर से क्लोरपाइरिफ़ॉस का बीज उपचार करें, मैलथियोन 50 ईसी का 5 मिली./ली. की दर से भंडार की दीवारों और थैलों पर छिड़काव करें। थैलों पर डेल्टामेथ्रिन का 0.5 मिली./ली. की दर से छिड़काव करें।

निवारक उपाय

  • सी.एम.वी. 10, जी.जी. 3 तथा अन्य ऐसी प्रतिरोधी प्रजातियों को उगाएं जो ब्रुकिड को कम पसंद होती हैं.
  • छँटाई तथा टूटे और क्षतिग्रस्त बीजों का निस्तारण कर द्वितीयक कीटों के आक्रमण को कम करें.
  • फसल की खेत मे ही ढेरी बनाने से बचें.
  • मूंगफली को परिपक्वता के सही चरण पर तोड़ लें.
  • कीटों के संक्रमण को खेतों से भंडार तक कम करने के लिए बीजों की नमी को धूप में सुखा कर सुरक्षित स्तर (आमतौर पर 10% आर्द्रता से कम) तक लाएं.
  • भंडार की इमारत को साफ़ करें तथा धुएं से कीटाणुमुक्त करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!