- सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

ओरियंटल मकड़ी घुन

घुन

Eutetranychus orientalis


संक्षेप में

  • यूटेट्रेनिकस ओरिएंटेलिस सिट्रस (नींबू वंश) का एक प्रमुख कीट है, जिससे सिट्रस रेड माइट (लाल घुन), पैनोनिकस सिट्रि, के खाए जाने जैसी क्षति होती है.
  • पत्तियां हरितहीन हो जाती हैं और संक्रमण अधिक होने पर समय से पहले गिर जाती हैं.
  • टहनियां नोक से शुरू करते हुए मरने लगती हैं, फलों की गुणवत्ता में गिरावट आती है, और वृक्षों की जीवनशक्ति कम हो जाती है.
  • पानी की अच्छी आपूर्ति से प्रकोप और इस कीट द्वारा हानि कम होती है।.
 - सिट्रस (नींबू वंश)

सिट्रस (नींबू वंश) सिट्रस (नींबू वंश)

लक्षण

क्षति की विशेषता पत्तियों की ऊपरी सतह पर भक्षण के चिह्न हैं, मुख्यतः मध्यशिरा पर, जो बाद में बाकी शिराओं तक फैल जाते हैं। मध्य शिरा के साथ-साथ हल्की पीली धारियां विकसित हो जाती हैं और अंत में पत्तियां हरितहीन हो जाती हैं। कभी-कभी पत्तियों पर बहुत पतली धूल की परत चढ़ जाती है और हल्का-सा जाल भी बन जाता है। नई संक्रमित पत्तियों के किनारे ऊपर की ओर बेलनाकार मुड़ जाते हैं। संक्रमण के उच्च स्तर पर घुन पत्ती की पूरी ऊपरी सतह को खाते हैं और उस पर अंडे देते हैं। इससे समय से पूर्व पत्तियां गिर जाती हैं, शाखाएं नोक से शुरू होते हुए मर जाती हैं, और फल गिर जाते हैं। अगामी वर्ष फूल लगना गंभीर रूप से प्रभावित हो सकता है। यदि पौधों में पानी की कमी है, तो कीट की कम आबादी से भी फल हरितहीन हो जाएंगे और पत्तियां समय से पूर्व गिर जाएंगी।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

लक्षणों का कारण सिट्रस ओरिएंटल माइट, यूटेट्रेनिकस ओरिएंटेलिस के वयस्कों और कीटडिंभ की भक्षण गतिविधियां हैं। एक अंडाकार और चपटा शरीर इनकी विशेषता है। ये हल्के भूरे, लाल भूरे से लेकर गहरे हरे रंग के हो सकते हैं। उन पर गहरे रंग के धब्बे और शरीर के जितनी ही लंबी हल्के रंग की टांगें होती हैं। ये मुख्यतः नींबू वंश (सिट्रस) पौधों और कभी-कभार अन्य फसलों जैसे कि बादाम, केला, कसावा और कपास को संक्रमित करते हैं। ये आम तौर पर पत्ती की ऊपरी सतह पर पाए जाते हैं और हवा से फैलते हैं। भौगौलिक परिस्थितियों पर निर्भर करते हुए इसकी वर्ष में 8-27 पीढ़ियां होती हैं, प्रत्येक मादा अपने जीवनकाल (2-3 सप्ताह) में 30-40 अंडे देती है। बहुत कम या बहुत ज़्यादा नमी, तेज़ हवा, सूखा या अल्पविकसित जड़ तंत्र से स्थिति और बिगाड़ सकती है। ओरिएंटल स्पाइडर माइट के लिए आदर्श परिस्थितियां 21-27 डिग्री सेल्सियस तापमान और 59-70% नमी हैं।

जैविक नियंत्रण

यूटेट्रेनिकस ओरिएंटेलिस के कई शिकारी और अन्य प्राकृतिक शत्रु होते हैं, जो अक्सर इसका फैलाव रोकने के लिए पर्याप्त होते हैं। सिट्रस ओरिएंटल माइट के नियंत्रण के लिए कई फ़ाइटोसेड और स्टिगमैड घुनों का प्रयोग विभिन्न देशों में किया गया है, जैसे कि यूसियस स्टिपुलेटस, टायफ़्लोड्रोमस, फ़ियालेटस, नियोस्यूलस कैलिफ़ोर्निकस, फ़ाइटोस्यूलस पर्सिमिलिस। शिकारी भौंरे जैसे कि स्टेथोरस प्रजाति और ओरियस थ्रिपोबोरस के साथ-साथ लेसविंग लार्वा भी घुनों को खाते हैं। इन कीटों से छुटकारा पाने के लिए आप अपने पौधों पर सल्फ़र का छिड़काव या फिर पाउडर छिड़क सकते हैं।

रासायनिक नियंत्रण

रोकथाम उपायों और जैविक उपचारों, यदि उपलब्ध हैं, के साथ हमेशा एक समेकित तरीका अपनाएं। प्रकोपित पौधों का उपचार करें यदि उनकी 20% पत्तियां और/या फल प्रभावित हैं। चुनिंदा कीटनाशकों के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है क्योंकि बहुपयोगी कीटनाशक स्थिति और बिगाड़ सकते हैं। कई अलग तरह के मकड़ीनाशकों का प्रयोग प्रतिरोध विकसित होने से बचाता है। फ़्लुबेंज़िमाइन, ओमेथोएट और डाइकोफ़ोल का इस्तेमाल भी प्रभावी पाया गया है।

निवारक उपाय

  • घुनों की संख्या का अनुमान लगाने के लिए बागानों की साप्ताहिक तौर पर लेंस की सहायता से निगरानी करें.
  • कीटनाशकों के अत्यधिक उपयोग से बचें क्योंकि यह लाभप्रद कीटों की जनसंख्या को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है.
  • पेड़ों को अच्छी तरह से पानी दें और गर्म मौसम में सूखे के प्रभाव से बचाएं.
  • शाखाओं को ज़मीन की घास या खरपतवार के संपर्क से बचाएं.
  • बागान को खरपतवार से मुक्त रखें.
  • फसल कटने के बाद कूड़ा-कर्कट और अवशेषों को हटा दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!