- सोयाबीन

सोयाबीन सोयाबीन

चौड़ी नाक वाले घुन (ब्रॉड नोज़्ड वीविल)

कीट

Myllocerus sp.


संक्षेप में

  • पत्तियों के खांचेदार किनारे.
  • अवरुद्ध पौधा वृद्धि.
  • वयस्क घुन हल्के धूसर रंग के होते हैं, और उनके पंख आवरण और सिर गहरे रंग के होते हैं।.
 - सोयाबीन

सोयाबीन सोयाबीन

लक्षण

धूसर घुन के हमले के पहले दिखाई देने वाले लक्षण पत्तियों के खांचेदार किनारे हैं। वयस्क घुन नए पौधों की पत्तियों के किनारों को खाना पसंद करते हैं और फिर अंदर की ओर बढ़ते हैं। विकट रूप से संक्रमित पत्तियां पूरी झड़ सकती हैं। स्वस्थ पौधे भक्षण से हुई क्षति से उबर सकते हैं, लेकिन तरुण पौधे फूल आने के समय मर जाएंगे। गंभीर प्रकोप पौधों की वृद्धि को बाधित कर सकता है। प्रभावित पौधों को आसानी से उखाड़ा जा सकता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

लक्षणों का कारण धूसर घुन (ग्रे वीविल), माइलोसेरस प्रजाति, के वयस्क और कीटडिंभ दोनों होते हैं। वयस्क घुन छोटे और रंग में हल्के धूसर होते हैं, जबकि उनके पंखों के आवरण और सिर पर गहरे रंग की संरचनाएं होती हैं। मादाएं 24 दिनों की अवधि के दौरान मिट्टी में 360 अंडे देती हैं। अंडों से बाहर निकलने के बाद लार्वा सुरंग बना कर मिट्टी में घुस जाते हैं जहां वे पौधों की जड़ें खाते हैं। कीटडिंभों का बाद में मिट्टी में प्यूपीकरण होता है। सर्दियों में वयस्क घुन कूड़े के नीचे छिपकर जीवित रहते हैं। माइलोसेरस प्रजाति के सजावटी पौधों, सब्ज़ियों से लेकर फलों की प्रजातियों तक कई मेज़बान पौधे होते हैं।

जैविक नियंत्रण

अपनी मिट्टी को 2.5 मिग्रा./लीटर के दर से बैसिलस थुरिंजिएंसिस प्रजाति, टेनेब्रियोनिस (बीटीटी), के साथ तर कर दें। जीवाणु को जड़ की शीर्ष भिंगोने (रूट टिप विधि) के लिए भी प्रयोग किया जा सकता है। इस विधि में आप अपने पौधों की जड़ों के सिरों को बीटीटी के घोल में भिंगोते हैं और मिट्टी में रोपित करने से पहले उन्हें सुखाते हैं। लार्वा की मृत्यु दर नमी और तापमान बनाए रखने पर निर्भर करती है। अंतिम जुताई के समय 500 किग्रा/हेक्टेयर की दर से नीम केक का इस्तेमाल करें।

रासायनिक नियंत्रण

रोकथाम उपायों के साथ-साथ उपलब्ध जैविक उपचारों को लेकर हमेशा एक समेकित कार्यविधि पर विचार करें। रासायनिक उपचार से बहुत सीमित सफलता मिलती है क्योंकि धूसर घुन के अंडे, लार्वा और प्यूपा मिट्टी के अंदर रहते हैं। वयस्क घुनों को भी संभालना मुश्किल होता है क्योंकि वे उड़ने और छिपने के साथ-साथ मरने का नाटक भी कर सकते हैं। समस्याएं तब पैदा होती हैं जब ये प्रतिरोध विकसित कर लेते हैं। आप बुवाई के 20 दिन बाद क्विनाल्फ़ॉस या क्लोरपाइरिफ़ॉस डाइमेथोएट का छिड़काव कर सकते हैं या रेत के साथ फ़ोरेट या कार्बेरिल ग्रैनुलर का मिश्रण छिड़क सकते हैं।

निवारक उपाय

  • उपलब्ध सहनशील किस्मों का उपयोग करें.
  • जब पत्तियां बढ़ने लगे, तो सावधानी बरतते हुए फसल की निगरानी और पड़ताल करें.
  • बार-बार गुड़ाई कीड़ों को परेशान करके उन्हें मार सकती है.
  • कुछ स्रोतों से पता चलता है कि अरहर को जाल फ़सल (उन्हें आकर्षित करने के लिए) के रूप में लगाना भी प्रभावी होता है.
  • पेड़ या उनकी शाखाएं हिलाकर और साबुन के पानी के कंटेनर में वयस्क घुनों को जमा करके उन्हें हटाया जा सकता है.
  • प्रभावित पौधों और शाखाओं को हटाकर उन्हें नष्ट कर दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!