- बैंगन

बैंगन बैंगन

बडवर्म

कीट

Scrobipalpa sp.


संक्षेप में

  • शीर्ष प्ररोहों और फूलों की कलियों का सिकुड़ना और गिरना.
  • पत्तियों का नीचे की तरफ़ लटकना और मुरझाना.
  • मृत केंद्रीय भाग (डेड हार्ट) लक्षण प्रदर्शित करना।.
 - बैंगन

बैंगन बैंगन

लक्षण

लक्षण पौधे की कलियों, फूलों और तनों पर दिखते हैं। शुरुआती वृद्धि चरण में संक्रमित शीर्ष प्ररोह झुककर लटक और मुरझा जाते हैं। बड़े पौधों का विकास अवरुद्ध हो जाता है। पुष्प कलिकाओं के सिकुड़ने और गिरने से फल लगने की प्रक्रिया बुरी तरह प्रभावित होती है। पत्तियां मुरझाई और सूखी हुई सी दिखती हैं। लार्वा द्वारा किए गए छेद प्ररोहों और फलों पर होते हैं और इनमें मल भरा होता है। बडवर्म के प्ररोहों में छेद करने से शीर्ष प्ररोह मुरझा जाते हैं, जिससे केंद्रीय भाग मृत (डेड हार्ट) होने की स्थिति पैदा हो जाती है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

क्षति का मुख्य कारण स्क्रोबिपैल्पा (ब्लैप्सिगोना प्रजाति) का लार्वा है। पतंगे मध्यम आकार के होते हैं और इनके झालरदार पंख सफ़ेद से लेकर तांबई लाल होते हैं। आगे के पंख सफ़ेद भूरे और पीछे के पंख हल्के धूसर और ज़्यादातर सफ़ेद रंग के होते हैं। शुरुआत में इनके लार्वा हल्के पीले, गुलाबी रंगत वाले भूरे सिर और धड़ वाले होते हैं और बाद में भूरी इल्लियों में बदल जाते हैं। ये छेद करके नवांकुरों के तनों में घुस जाता है और आतंरिक ऊतकों को खाता है। इस कारण स्टेम गॉल (तने पर फोड़े), किल्लेदार पार्श्व शाखाएं, अवरुद्ध या विकृत वृद्धि दिखती है और पौधे मुरझा जाते हैं। जब बडवर्म पुष्प कलिकाओं में छेद करके घुसता है, तो इसके कारण फूल गिर जाता है, जिससे पौधा कोई फल नहीं उत्पादित कर पाता है। ये इल्लियां आम तौर पर दिन के अंत में भक्षण करती हैं। इन्हें तंबाकू का भी एक महत्वपूर्ण कीट माना जाता है।

जैविक नियंत्रण

कीट-परजीवियों में माइक्रोगैस्टर प्रजाति, ब्रैकन किचनेरी, फ़ाइलिएंटा रुफ़िकैंडा, कीलोनस हेलियोपा का इस्तेमाल बडवर्म प्रकोप सीमित करने के लिए किया जा सकता है। लार्वा-परजीवी, जैसे कि प्रिस्टोमेरस टेस्टैसियस और क्रेमैस्टस फ़्लैकूर्बिटैलिस, की गतिविधियों को बढ़ावा दें। प्राकृतिक शत्रुओं, जैसे कि ब्रौस्कस पंक्टैटस, लियोग्राइलस बाइमैकुलैटस, को भी बढ़ावा दिया जाना चाहिए। 5% निबौरियों (नीम बीज) के अर्क या नीम तेल युक्त एज़ाडिरैक्टिन ईसी का छिड़काव करें। रोगाणुओं बैसिलस थूरिंजियासिस, बोवेरिया बैसियाना (एंटोमोपैथोजेनिक फ़ंगस - कीट मारने वाला फफूंद) का इस्तेमाल कीट के पहली बार दिखने पर किया जा सकता है और ज़रूरत पड़ने पर दोहराया जा सकता है।

रासायनिक नियंत्रण

रोकथाम उपायों के साथ-साथ उपलब्ध जैविक उपचारों को लेकर हमेशा एक समेकित कार्यविधि पर विचार करें। जब 3-10% नए पौधे क्षतिग्रस्त हो जाएं, तो बचाव उपाय अपनाएं, लेकिन गैर-ज़रूरी छिड़काव और बेतहाशा कीटनाशक इस्तेमाल से बचें, क्योंकि ये लाभदायक कीटों को भी मार सकते हैं। फल परिपक्व होने और फसल कटाई के दौरान छिड़काव न करें। कीट पर नियंत्रण के लिए क्लोरपाइरिफ़ॉस, एमामेक्टिन बेंज़ोएट, फ़्लुबेंडायमाइड, इंडोक्साकार्ब पर आधारित कीटनाशकों का इस्तेमाल किया जा सकता है।

निवारक उपाय

  • पौधे की वृद्धि के शुरुआती चरणों में अंडों और लार्वा के लिए अपनी फसल की सप्ताह में दो बार निगरानी करें.
  • आम तौर पर, इल्लियों के पौधों में छेद करके प्रवेश करने से पहले भारी प्रकोप का पता लगाना और रोकना अपेक्षाकृत आसान होता है.
  • हाथों से लार्वा और अंडों को एकत्र करके उन्हें नष्ट कर दें.
  • वयस्क पतंगों को आकर्षित करने और मारने के लिए फ़ेरोमॉन ट्रैप (12/हेक्टेयर) और लाइट ट्रैप (1/हेक्टेयर) की स्थापना करनी चाहिए.
  • खेत के चारों ओर जंगली फूल और ज्वार लगाकर आप बडवर्म के प्राकृतिक शत्रुओं को आमंत्रित कर सकते हैं.
  • क्यारियों और खेतों से पौधे के प्रभावित हिस्से और खरपतवार (विशेषकर सोलेनेसी परिवार के खरपतवार) हटाकर नष्ट कर दें.
  • जीवन चक्र तोड़ने के लिए कुछ अवधि के लिए खेत खाली छोड़ना और सौरीकरण करना उपयोगी है.
  • फसल चक्रीकरण की अनुशंसा की जाती है, लेकिन तंबाकू (मेज़बान पौधा) से परहेज़ करें.
  • साथ ही, आसपास के खेतों में तंबाकू की खेती न करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!