- कैबेज(पत्तागोभी)

कैबेज(पत्तागोभी) कैबेज(पत्तागोभी)

पत्तागोभी पत्ता छेदक

कीट

Crocidolomia binotalis


संक्षेप में

  • पत्तियों में छेद.
  • पत्तियों और गोभी के भीतर इल्लियों का मल.
  • सामने के पंख पर हल्के-भूरे रंग की टेढ़ीमेढ़ी लाइनों और काले धब्बों वाला स्लेटी-भूरा पतंगा।.
 - कैबेज(पत्तागोभी)

कैबेज(पत्तागोभी) कैबेज(पत्तागोभी)

लक्षण

शुरुआती लक्षण एक रेशमी जाल होता है जो पत्तियों को चारों ओर से लपेटता है। पत्तों पर कीटों के खाने की क्षति पत्तियों के कंकाल के रूप में देखी जा सकती है। पत्तागोभी की भीतरी पत्तियाँ अक्सर नष्ट हो जाती हैं। वे फूलों की कलियों को खाते हैं और फली में छेद भी कर देते हैं। इल्लियों का उत्सर्जन पत्तियों और पत्तागोभी के बीच में रह जाता है। अंडे पत्तियों के निचली सतह पर पाए जा सकते हैं। पत्ती पर नुकसान के कारण प्रभावित पौधे ख़राब हो जाते हैं।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

नुकसान क्रोसिडोलमिया बिनोटैलिस (Crocidolomia binotalis) के लार्वा के कारण होता है। लार्वा शायद ही कभी पौध पर हमला करते हैं लेकिन पौधों के सभी चरणों को खाते हैं। अंडे बाहरी पत्तियों के निचले हिस्से पर 40 से 100 के गुच्छों में दिए जाते हैं। वे पहले हरे-पीले दिखाई देते हैं, और लार्वा निकलने से कुछ पहले ये अंडे चमकीले पीले और भूरे रंग के हो जाते हैं। नए लार्वा लगभग 2 मिमी लंबे होते हैं और परिपक्व होने पर वे लंबे बालों के साथ 20 मिमी तक बढ़ जाते हैं। बाद के चरणों में, वे पत्तियों के ऊपर मोटे जाले बनाते हैं और इल्लियां उनके नीचे भोजन करती हैं। पतंगे आमतौर पर रात के दौरान सक्रिय होते हैं, और फसल को शुरुआती अवस्था से लेकर फसल की कटाई तक संक्रमित कर सकते हैं। यह मूली, सरसों, शलजम और अन्य गोभी परिवार की फ़सलों को भी संक्रमित करता है। मलमूत्र सब्ज़ी को न खाने लायक बना देता है।

जैविक नियंत्रण

जैसे ही नुकसान दिखता है तो बैसिलस थुरिंजियेंसिस का उपयोग करें (शाम को डाला जाना चाहिए)। सावधानीपूर्वक छिड़काव करके पौधों को पूरी तरह से कवर करें ताकि वे कीटनाशक का सेवन कर सकें क्योंकि उद्देश्य इल्लियों को मारना है। अंडे बीटी के प्रति संवेदनशील नहीं होते हैं, लेकिन छोटे लार्वा पूरी तरह से विकसित लार्वा की तुलना में ज़्यादा संवेदनशील होते हैं। ताज़े नीम, लेमनग्रास, अदरक या अन्य वनस्पति आधारित कीटनाशकों को 15 लीटर पानी में 1 लीटर घोल कर उपयोग करें।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हो तो हमेशा जैविक उपचार के निवारक उपायों के साथ एकीकृत उपायों पर विचार करें। व्यापक असर वाले कीटनाशकों (जैसे कि पाइरेथ्रोइड्स और ऑर्गेनोफ़ॉस्फ़ेट्स) के उपयोग से बचें क्योंकि वे प्राकृतिक परभक्षियों को मार देंगे। कीटनाशक, जैसे कि फ़ोसालोन, फ़ेनवेलरेट, साइपरमेथ्रिन या डेल्टामेथ्रिन का छिड़काव करें। एक सामान असर वाले कीटनाशकों को नहीं दोहराएं।

निवारक उपाय

  • रोपाई के लिए केवल कीट-मुक्त बीज का उपयोग करें.
  • अंडों के गुच्छों और नई इल्ली के लिए नर्सरी में पौध की जाँच करें.
  • यदि कोई नई इल्ली पाई जाती है, तो पत्तियों या पूरे पौधे को हटा दें और उन्हें नष्ट कर दें.
  • रोपाई से पहले पत्तागोभी की कतारों के बीच एक साथी फसल सरसों (ब्रैसिका जंसिया) या चीनी गोभी का उपयोग पतंगों को आकर्षित करने के लिए एक ट्रैप फसल के रूप में करें.
  • पत्तागोभी की रोपाई से लगभग 15 दिन पहले सरसों की पहली कतार लगाएं, और दूसरी कतार 25 दिनों के बाद लगाएँ.
  • जालियों का उपयोग करके इल्लियों के घुसने को रोकें और पौधों को कीट-प्रूफ जाल या ऊन से कवर करें.
  • मौसम के दौरान दैनिक आधार पर संवेदनशील पौधों की निगरानी करें और पाए जाने वाले किसी भी अंडे या इल्ली को हटा दें.
  • पौधे के भीतर इल्ली के साथ जाली में बुनी हुई पत्तियों को निकालें और नष्ट करें.
  • फसल के अवशेषों को कटाई के तुरंत बाद नष्ट कर दें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!