- सेब

सेब सेब

सैन होज़े स्केल

कीट

Comstockaspis perniciosa


संक्षेप में

  • खाने वाली जगहों के चारों ओर हल्के गड्ढे और लाल-बैंगनी धब्बे होते हैं.
  • छोटे, विकृत और फीके रंग के फल।.
 - सेब

सेब सेब

लक्षण

स्केल कीट टहनियों, पत्तियों, और फलों से रस चूसता है। खाने के इस तरीक़े से फल की सतह पर लाल-बैंगनी धब्बों के साथ हल्के गड्ढे बन जाते हैं। हालांकि एक अकेले शल्क से बहुत ज़्यादा नुकसान नहीं होता है, परंतु एक मादा और उसकी संतान एक मौसम में कई हज़ार शल्क पैदा कर सकते हैं। ये कीड़े विशेष रूप से बड़े पुराने पेड़ों में रहते हैं, जहाँ अच्छे से छिड़काव कर पाना मुश्किल होता है, लेकिन नए, छिड़काव किए गए पेड़ भी असुरक्षित हो सकते हैं। हालाँकि वे पेड़ की छाल में, शल्क के नीचे और दरारों में ज़िन्दा रहते हैं, फलों और पत्तियों पर छोटे लाल धब्बे बगीचे में उनका पहला संकेत हो सकते हैं। अगर संक्रमण शुरूआती मौसम में हो जाता है, तो फल छोटे या विकृत हो सकते हैं। यह पौधे की मज़बूती, वृद्धि, और पैदावार को घटा देता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

नुकसान फल के पेड़ के कीट, सैन होज़े स्केल, के कारण होता है। मादा पीली, पंखरहित और कोमल, आकार में गोलाकार होती हैं। वे लगभग 1.5-2.2 मिमी लम्बी, पीठ पर एक गहरी पट्टी वाली होती हैं। कीटडिंभ तीन चरणों से गुज़रता है, यानी क्रॉलर, वाइट कैप, और ब्लैक कैप। वे अपना जीवन चक्र 37 दिनों में पूरा कर सकता है, और हर साल इस कीट की दो पीढ़ियां हो सकती हैं। कीट का विकास वसंत में तापमान के 51° फ़ारेनहाइट से अधिक होने पर शुरू होता है। सर्दियों में जीवित बच जाने वाले कीटडिंभ मार्च के मध्य में सक्रिय हो जाते हैं और नर कीट अप्रैल में निकल आते हैं। नवजात के निकलने तक अंडे मादाओं के भीतर ही रहते हैं और मई के मध्य में एक महीने में 200 से 400 तक कीटडिंभ पैदा होते हैं। सामान्य जीवन चक्र 35-40 दिनों में पूरा होता है, और फूल खिलने के दौरान कीड़े बढ़ने लगते हैं। मादा शल्क गोल, काले दाने के साथ थोड़ी उत्तल होती है जबकि नर सीधा होता है।

जैविक नियंत्रण

सैन होज़े स्केल को खाने वाले प्राकृतिक दुश्मनों, जैसे कि किलोकरस स्टिग्मा या साइबोसेफ़ेलस कैलीफ़ोर्निकस, को खेत में डालें। इसके अलावा, कुछ छोटे कैल्सिड ततैये और अफ़ेलिनिड ततैये स्केल के परजीवी हैं। कली खिलने के ठीक पहले या ठीक बाद, लेकिन कली के फूल बनने से पहले, 2% बाग़वानी तेल का छिड़काव करें। ऐफ़ाईटिस प्रजाति, एन्कर्सिया पर्निकियोसी, और कॉक्सिनेला इन्फ़र्नलिस मलसैंट को फ़ायदेमंद जैविक नियंत्रक के रूप में जाना जाता है। परजीव्याभ, जैसे कि एन्कर्सिया पर्निशयस 2000, को प्रकोप वाली जगहों पर संक्रमित पेड़ो पर बसंत के दौरान एक बार छोड़ दें।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हों, तो हमेशा जैविक उपचारों के साथ निवारक उपायों के एकीकृत तरीकों पर विचार करें। विलंबित सुसुप्त अवस्था के दौरान एक कीटनाशक के साथ तेल स्प्रे से भारी आबादी को नियंत्रित करें। फ़ेरोमोन जालों में वयस्कों या चिपचिपे टेप में पहले रेंगने वाले कीटों के नज़र आते ही, कीट वृद्धि नियामक युक्त कीटनाशक, जैसे कि पाइरीप्रॉक्सीफ़ेन या बूप्रोफ़ेज़िन, नियोनिकोटिनोइड, ओर्गानोफ़ॉस्फ़ेट या स्पाइरोटेट्रामेट, डालें। अगर आपको फिर भी सक्रिय रेंगने वाले कीट मिलते हैं, तो 10 दिन बाद दोबारा स्प्रे करें।

निवारक उपाय

  • बगीचे की सफ़ाई को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए.
  • वैकल्पिक मेज़बान पौधों, खरपतवारों, स्वयं उगने वाले पौधों और फसल के अवशेषों को हटाने से संक्रमण को काफ़ी कम किया जा सकता है.
  • गंभीर रूप से संक्रमित शाखाओं को काट कर, जला और नष्ट कर देना चाहिए.
  • संक्रमण के स्तर को निर्धारित करने के लिए सुशुप्त अवस्था के दौरान पेड़ों की सावधानीपूर्वक जांच करें.
  • सर्दियों के दौरान उन पेड़ों की जांच करें जिन पर पत्तियाँ रह जाती हैं क्योंकि यह कीट की उपस्थिति का एक अच्छा संकेत है.
  • नर की उपस्थिति का पता करने के लिए फ़ेरोमोन ट्रैप/जाल लगाएं.
  • छह से सात फीट की ऊंचाई पर पेड़ों के उत्तरी और पूर्वी हिस्से में जाल लगाएं और साप्ताहिक जांच करें.
  • आबादी कम करने और स्प्रे की पहुँच को बढ़ाने के लिए संक्रमित शाखाओं को काट देना चाहिए.
  • हरी समस्याएं दिखाते समय, लेकिन कलियों के गुलाबी होने से पहले, सुशुप्त अवस्था में देरी के लिए तेल का स्प्रे करें।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!