- सेब

सेब सेब

सेब तना छेदक

कीट

Apriona cinerea


संक्षेप में

  • छाल पर छेदों से राल निकलता है.
  • संक्रमित पेड़ों के आधार पर बड़ी मात्रा में कीट मल इकठ्ठा हो जाता है.
  • विकास रुक जाना।.
 - सेब

सेब सेब

लक्षण

वयस्क गुबरैला तने की छाल को खाता है। एक संक्रमित तने पर, अंडा देने का निशान आसानी से दिखाई देता है। आमतौर पर, बड़े पेड़ों की प्रत्येक डाली पर एक अर्धचंद्राकार निशान मौजूद होता है। छाल के नीचे रास्ते (टेढ़े-मेढ़े बिल) और लकड़ी में सुरंगें लार्वा की उपस्थिति बताते हैं। नए पौधों में, अंडे देने के स्थान के छेदों से राल बहता है और छाल में लार्वा की सुरंगें देखी जा सकती हैं। लार्वा की गतिविधि को छाल के नीचे रास्तों की उपस्थिति और बाद में, लकड़ी में सुरंगों द्वारा पहचाना जाता है। जब लार्वा परिपक्व मुख्य पेड़ में घुसता है, तो अगल-बगल के कीटमल छेद एक दूसरे के पास होते हैं। नए पौधों में, लार्वा सुरंग बनाकर जड़ों तक पहुंच सकते हैं। नियमित रूप से कीटमल वाले छेदों की उपस्थिति के कारण, अन्य छेदकों की तुलना में ए. सिनेरिया (A. Cinerea) के लार्वा का पता लगाना आसान होता है।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

नुकसान तना छेदक के कीटडिंभ और वयस्कों के कारण होता है, हालांकि, कीटडिंभ अधिक विनाशकारी हैं। कीटडिंभ का सिर सपाट गहरे भूरे रंग के साथ हल्का पीला होता है, जबकि वयस्क आधार पर कई काली गांठों के साथ हल्के भूरे रंग का होता है। अंडे या तो शाखाओं या फिर मुख्य तने पर दिए जाते हैं। 5-7 दिनों के बाद, लार्वा तने में नीचे की ओर छेद करता है और सतह तक सुरंग बना लेता है। वह नियमित दूरी पर छेद बना देता है, जिनसे चूरा (मल) बाहर निकलता है। लार्वा मलाई जैसा सफ़ेद, बिना पैर का डिंभ होता है, जो आकार में लम्बा और बेलनाकार होता है। मादा अंडे देने के लिए छाल के नीचे दरारें बनाती है और उसमें अंडे देती है। 5-7 दिनों के बाद अंडों में से डिंभ निकल आते हैं। लार्वा वृद्धि के शुरुआती चरण में, कीटमल निकालने के छेद एक-दूसरे के करीब होते हैं, लेकिन जैसे-जैसे वे परिपक्व होकर आकार में बड़े होते हैं, कीटमल के छेद बड़े हो जाते हैं और उनके बीच की दूरी बढ़ जाती है।

जैविक नियंत्रण

स्टीनरनेमा ट्रेवसोस (Steinernema Travassos) और हेटरोरेबडाईटिस प्रजाति (Heterorhabditis spp.) जैसे परजीवी गोलकृमि और नियोप्लेक्टाना गोलकृमि, इलैट्रिड गुबरैला और ब्यूवेरिया बैसियाना जैसे प्राकृतिक दुश्मनों का उपयोग करें। भौतिक सुरक्षा या उपचार करें (लकड़ी के लिए ऊष्मा या विकिरण या 3 सेंटीमीटर जितने छोटे टुकड़ों में कटी हुई लकड़ी)। लकड़ी की पैकेजिंग सामग्री को ISPM 15 के अनुसार उपचारित करें।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हो, तो हमेशा जैविक उपचारों के साथ निवारक उपायों के एकीकृत तरीकों पर विचार करें। आज तक, इस कीट से नुकसान के खिलाफ़ कोई रासायनिक नियंत्रण विधियां नहीं बनी हैं। कीटडिंभ को मारने के लिए 10 मिलीलीटर मोनोक्रोटोफ़ोस 36 WSC को इंजेक्ट करके गीली मिट्टी से छेद बंद कर दें।

निवारक उपाय

  • इससे पहले कि कीटडिंभ पेड़ के तने में घुस जाएं, डालियों पर नज़र रखें और संक्रमित डालियों को काट दें.
  • शहतूत या कागज़ी शहतूत जैसे अन्य मेज़बान पेड़ों को हटा दें, जिन पर कीट बड़े होते हैं और जिन्हें खाते हैं.
  • वयस्कों को हाथ से पकड़ें और मार दें.
  • स्वच्छता कटाई (क्षतिग्रस्त और संक्रमित पौधों को नष्ट करना या उनकी छंटाई करना) जैसे कृषि अभ्यासों का उपयोग करें.
  • जाल पेड़ों को भी लगाएं.
  • नए पौधों को संक्रमित पेड़ों के पास नहीं लगाना चाहिए।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!