- कैबेज(पत्तागोभी)

कैबेज(पत्तागोभी) कैबेज(पत्तागोभी)

पत्तागोभी वेबवॉर्म

कीट

Hellula undalis


संक्षेप में

  • पत्तागोभी के पत्तों पर बहुत ज़्यादा जाल और कीटमल.
  • नई टहनियों का ऊपरी हिस्सा नष्ट हो जाता है.
  • पत्तियों के छोटे गुच्छे.
  • वयस्क पतंगे लहराती लाइनों के साथ स्लेटी-भूरे रंग के होते हैं.
  • तने पर छेद के प्रवेश द्वार पर कीटमल जमा होता है।.
 - कैबेज(पत्तागोभी)

कैबेज(पत्तागोभी) कैबेज(पत्तागोभी)

लक्षण

इल्लियां पौध को नष्ट कर देती हैं। नई सूंडियां पत्ते में छेद, तने, डंठल, पत्ती और नसों को खोखला कर देते हैं। वे पत्तियों को बाहर से खाती हैं। लार्वा पत्तागोभी के सिर में छेद करते हैं और अक्सर पौधे के भीतर प्रवेश करके नई टहनियों की कलियों को नष्ट कर देतें हैं, जिससे पत्तागोभी नहीं बन पाती है। पत्तागोभी के पुराने पौधों में, नए तने उगते हैं और नुकसान पहुँचाए गए पौधे सस्ती कीमत वाली कई छोटी पत्तागोभियां पैदा करती हैं। पत्तागोभी उगने के बाद इल्लियों के खाने से पौधे छोटे रह सकते हैं। वे खाते समय एक रेशमी नली बुनते हैं। पौधे मुरझा जाएंगे, और प्रभावित पौधों के हिस्सों से कीटमल बहता है। संक्रमित पौधों में अक्सर पत्तियों के कई छोटे-छोटे गुच्छे होते हैं जो केंद्रीय कली के नुकसान और बगल से तने निकलने के कारण होते हैं।

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!

प्रभावित फसलें

ट्रिगर

अधिकतर उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में गोभी परिवार (पत्तागोभी, फूलगोभी) की फसलों में लक्षण हेलुला अंडेलिस की इल्लियों के खाने की वजह से होते हैं। अंडे अंडाकार होते हैं और एकल या समूहों में, कभी-कभी कतारों में दिए जाते हैं। लगभग तीन दिनों बाद अंडे से कीटडिंभ निकलते हैं, और पांच विकासात्मक चरणों के बाद, वे भूरे-पीले और गुलाबी रंग की खड़ी धारियों के साथ वयस्क बन जाते हैं। सूंडियां मलाई जैसी सफ़ेद होती हैं, उनके शरीर की लंबाई में हल्के गुलाबी भूरे रंग की धारियों होती हैं, और उनका सिर काले रंग का होता है। वयस्क इल्लियों में हल्की धारियां होती हैं। अंतिम चरण में, इल्लियां 12-15 मिमी लंबी हो जाती हैं, और रेशमी कोकून में रहकर खाती हैं। आमतौर पर आगे के पंखों में हल्की-भूरी लहरदार रेखाएं और एक काला धब्बा होता है। वयस्क पतंगे हल्के-भूरे रंग क्, छोटे आकार के और थोड़े नाज़ुक होते हैं। पंख की चौड़ाई 18 मिमी तक होती है। वयस्क बनने और संभोग के बाद, मादा अगले 3 से 10 दिनों में 150 या ज़्यादा अंडे देती है। वयस्क पतंगा लंबी दूरी तक उड़ान भर सकता है।

जैविक नियंत्रण

परजीवी ततैया, जैसे कि ब्रैकोनिड, इकन्यूमोनिड (ichneumonid) और चैल्सीडोइड (chalcidoid) ततैया का इस्तेमाल करें। बेसिलस थुरिंजियेंन्सिस की सलाह दी जाती है और इसे लार्वा के अपने रेशेदार जाले द्वारा सुरक्षित होने से पहले, और उनके पत्तागोभी के बीच तक पहुंचने से पहले डालना चाहिए। नीम का साप्ताहिक इस्तेमाल भी प्रभावी हो सकता है।

रासायनिक नियंत्रण

यदि उपलब्ध हों, तो हमेशा जैविक उपचार के साथ निवारक उपायों के एकीकृत तरीके के उपयोग पर विचार करें। इस कीट से अपने पौधों को बचाने के लिए कीटनाशकों का उपयोग मुश्किल है क्योंकि वे या तो जाल द्वारा सुरक्षित होते हैं या फसलों में अंदर घुसे होते हैं। ऐसफ़ेट और पर्मेथ्रिन का प्रयोग 8-10 दिन के अंतराल पर करें। पौधों पर कीट के पहली बार दिखने पर कार्बामेट्स और ऑर्गेनो-फ़ॉस्फ़ेट्स के डालने पर कीट की रोकथाम की जा सकती है।

निवारक उपाय

  • साफ़ रोपण सामग्री का उपयोग करें और केवल स्वस्थ, मज़बूत कीट-मुक्त पौध की रोपाई करें.
  • जाल (ट्रैप) फसल, जैसे कि सरसों (ब्रासिका जंसिया) या चीनी गोभी (बोक चॉय) को अपनी गोभी परिवार की फसल की कतारों के बीच लगाएँ.
  • ट्रैप फसलों की पहली कतार को आपकी फसल की रोपाई से 15 दिन पहले लगाया जाना चाहिए, जबकि दूसरी कतार रोपाई के 25 दिन बाद लगाई जाती है.
  • नर्सरी में और रोपाई के बाद नए पौधों की नियमित निगरानी करें.
  • अपने खेत को खरपतवारों से मुक्त रखें.
  • इल्ली और नुकसान के लक्षणों के लिए फसलों का निरीक्षण करें.
  • खेत को साफ़ रखें, पत्तागोभी और केल के डंठलों को उखाड़ें और जलाएं.
  • कीटों की आबादी को कम करने के लिए फसल चक्र महत्वपूर्ण है।.

मोबाइल फसल चिकित्सक की सहायता से अपनी उपज बढ़ाएं!

इसे अभी निशुल्क प्राप्त करें!